सरकार..! क्या दिल्ली की तर्ज पर मप्र को भी मिलेगी महंगे पेट्रोल-डीजल से राहत

MP News

भोपाल|

कोरोना संकट काल (Corona Crisis) में दिल्ली वासियों को बड़ी सौगात देते हुए केजरीवाल सरकार ने डीजल पर वैट 13.15 प्रतिशत तक घटाकर 8.36 रुपये तक सस्ता कर दिया है। अब दिल्ली की तर्ज पर मध्य प्रदेश में भी पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) से वैट व अन्य टैक्स घटाने की मांग उठने लगी है| इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने भी डीज़ल- पेट्रोल पर लगने वाले Tax को कम करते हुए सरकार से जनता को राहत पहुँचाने की मांग की है|

पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा कि-हम पिछले कई माह से लगातार मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार से माँग कर रहे है कि प्रदेश में जनता को राहत प्रदान करते हुए डीज़ल- पेट्रोल पर लगने वालें करो को कम किया जायें। दिल्ली सरकार ने भी जनता को राहत प्रदान करने के लिये डीज़ल में लगने वाले वैट में कमी की है। कमलनाथ ने आगे लिखा- मैं प्रदेश सरकार से माँग करता हूँ कि वो भी जल्द ही इस तरह का निर्णय लेकर प्रदेश की जनता को इस कोरोना महामारी में राहत प्रदान करे ताकि महंगाई की मार कम हो सके।

एक साल में पेट्रोल पर 9% और डीजल पर 8% टैक्स बढ़ा
महंगा डीजल देने के मामले में मप्र दूसरे नंबर पर आ गया है। मप्र सरकार एक साल में पेट्रोल पर 9 प्रतिशत और डीजल पर 8% टैक्स बढ़ा चुकी है। 13 जून को सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर एक-एक रुपए अतिरिक्त कर बढ़ाया था। सरकार लॉकडाउन के बाद भी दोनों पर पिछले साल के बराबर कमाई कर चुकी है। इसके बावजूद सरकार पेट्रोल-डीजल पर टैक्स घटाने पर कोई फैसला नहीं ले रही है।

पांच फीसदी वैट कम हुआ तो मिलेगी बड़ी राहत
अभी उपभोक्ता एक लीटर डीजल पर राज्य सरकारी को वैट व अन्य टैक्स मिलाकर कुल 16 रुपये दे रहे हैं। मप्र पेट्रोल-डीजल डीलर्स एसोसिएशन का कहना है कि पांच फीसद वैट भी कम होता है तो दो से तीन रुपये प्रति लीटर तक डीजल सस्ता हो जाएगा।