मध्यप्रदेश के पर्यटन स्थलों पर शेरनियों की तरह बेखौफ़ अकेले घूम सकेंगी महिलाएं

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश या देश में कहीं भी पर्यटन स्थलों पर महिलाएं आपको अक्सर अकेले घूमती हुई नहीं दिखती देतीं। महिलाएं या लड़कियां ज्यादातर परिवार और दोस्तों के ही साथ बाहर निकलती हैं। इसका एक सबसे बड़ा कारण है कि अकेले महिलाओं का पर्यटन स्थलों पर घूमना सुरक्षित नहीं माना जाता है और यही कारण है कि महिलाएं अकेले कही नही जाती। लेकिन मध्यप्रदेश ने एकल महिलाओं के पर्यटन स्थलों पर घूमने को लेकर आज से एक अभियान की शुरुआत की है। मध्यप्रदेश टूरिज्म ने ‘टाइग्रेर्स ऑन द ट्रेल’ बाइक रैली का आयोजन किया, इस रैली का शुभारंभ टूरिज्म मंत्री उषा ठाकुर ने किया।

15 राज्यों की महिला बाइकर्स ने लिया हिस्सा

बाइक रैली में देश भर की 15 महिला बाइकर्स ने हिस्सा लिया। इनमें मुंबई, भुवनेश्वर, तमिलनाडु, इंदौर, कोलकाता, पंजाब, पुणे, पटना और बेंगलुरु की महिलाएं शामिल हैं। इन सभी महिलाओं को एक लंबा अनुभव है बाइक राइडिंग को लेकर और खुशी की बात है 15 महिलाओं के इस ग्रुप में 21 से 57 साल की उम्र तक की राइडर्स शामिल हैं। ये महिला राइडर्स इस अभियान के तहत भोपाल से 1500 किलोमीटर का सफर तय करेंगी। अपने इस सफर में ये प्रदेश की खूबसूरत वादियों से होते हुए पर्यटन स्थलों पर जाएंगी। साथ ही प्रदेश के नेशनल पार्क का भी भ्रमण करेंगी। बता दें कि यह सफर आज भोपाल से शुरु हुआ है और इसका समापन भी भोपाल में ही होगा।

‘टाइग्रेर्स ऑन द ट्रेल’ को लेकर पर्यटन विभाग का कहना है कि इस अभियान से पर्यटकों में एक विश्वास आएगा कि मध्यप्रदेश में महिला अकेली भी उतनी ही सुरक्षित हैं जितनी वो परिवार के साथ घूमने में होती हैं। यहां साहसिक पर्यटन की अपार संभावनाएं मौजूद हैं और पूरा सुरक्षित वातावरण है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here