मंडी में किसानों का फूटा गुस्सा, जमकर हंगामा, अफसर बोले- नाम बताओ जूता मारूंगा उसे

बुरहानपुर।

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर की रेणुका माता मंडी में उस वक्त किसानों का गुस्सा फूट पड़ा जब अफसरों ने कपास खरीदने पर इंकार कर दिया। वही उन्होंने अफसरों पर कमीशन लेने का भी आरोप लगाया। इस दौरान अफसर दलालों पर भड़क उठे और किसान, अफसर, और दलालों के बीच जमकर बहस हुई और काफी देर तक मंडी में हंगामा चलता रहा।

दरअसल, शुक्रवार को किसान समर्थन मूल्य पर कपास बेचने मंडी पहुंचे थे। जहां एक किसान ने अफसरों पर आरोप लगाते हुए कहा सीसीआई के अफसरों की दलालों से मिलीभगत है। 100 से 200 रुपए क्विंटल कमीशन पर दलाल घटिया माल बेच रहे हैं और किसानों के नाम नीलामी में शामिल किए बिना तौल रहे हैं। वाहन सीधे सीसीआई के शेड में खाली करने के लिए पहुंच रहे हैं।वही दूसरे ने कहा कि एक क्विंटल कपास चुनाई के एक हजार रुपए लग रहे हैं। 1500 रुपए गाड़ी भाड़ा और भराई के 400 रुपए खर्च हो गए। नीलामी में 4300 रुपए भाव बोल रहे हैं। ऐसे में खर्च भी नहीं निकल पाएगा।

 इस पर अफसर भड़क गए और किसानों को जमकर खरी-खोटी सुनाई।इस पर गुस्साए मंडी अफसर सुनील पाटील ने कहा तुम खुद दलाल हो, दूसरों का नाम क्या बताते हो। किसने लिए पैसे, बता उसका नाम, ये जूता मारूंगा उसको। मंडी वालों पर पैसे लेने की बात मत करना। सुनील ने कहा सबूत के साथ आऊंगा और उसका नाम भी बताऊंगा। किसानों के माल में नमी बताकर रिजेक्ट कर रहे हैं।रुपए लेने के आरोप पर मंडी के अफसर कुछ दलालों पर गुस्साए। इस पर किसान, दलाल और अफसरों में जमकर बहस हुई।