घेराबंदी कर पुलिस ने कार से जब्त किये अवैध हथियार, ASP के निर्देशन में हुई करवाई

बुरहानपुर| शेख रईस| जिले के ग्राम खकनार के पंचोरी गांव अवैध हथियार बनाने के लिए देश भर में प्रसिद्ध है | कई सालों से यह मैगजीन और अन्य नवैध हथियारों के निर्माण होता आ रहा है जिसको लेकर कई बार सरकार द्वारा इस अवैध कार्य से सिकलीगर समाज को दूर करने के प्रयास लगातार किये जा रहे थे इसके बावजूद लगतार पुलिस को पचौरी गांव में अवैध हथियारों के निर्माण एवं तस्करी की सूचनाएं मिल रही थी। जिसके बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महेंद्र तारनेकर के निर्देशन में एसडीओपी नेपानगर एसआर सेंगर के मार्ग दर्शन में खकनार थाना प्रभारी केपी धुर्वे के नेतृत्व में टीम का गठन कर मामले की गंभीरता को देखते हुए अवैध हथियारों के इस खेल को बेनकाब करने के लिए ग्राम पचौरी में विशेष टीम द्वारा नजर रखी जा रही थी जैसे ही इस गुप्त सूचना तंत्र ने अवैध हथियारों की तस्करी की सूचना मिली तत्काल टीम द्वारा खकनार तहसील के ग्राम कारखेड़ा में सेंट्रो कर क्रमांक MP09 HD 2268 में पीछे सीट में छुपा कर हस्तनिर्मित अवैध पिस्टलों का जखीरा बरामद करने में सफलता प्राप्त की।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महेंद्र तारनेकर ने आज प्रेस वार्ता में जानकारी देते हुए बताया कि इस मामले में पुलिस अभी और गहन पूछताछ कर रही है गिरफ्तार किए गए आरोपी से पुछताज कर आगे खुलासा किया जाएगा।

खकनार पुलिस ने ग्राम पचौरी के तरण सिंग पिता महेंद्र सिंग सिकलीगर को अवैध 20 पिस्टल के साथ गिरफ्तार कर आरोपी के विरुद्ध धारा 25 1 क 25 1ख आयुध अधिनियम का मामला पंजीबद्ध किया गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महेंद्र तारनेकर ने बताया कि आरोपी पूर्व में भी 3 साल की सजा अवैध हथियारों के मामले में काट चुका है। इस करवाई को अंजाम देने वाली पुलिस टीम को जल्द ही इनाम भी विभाग द्वारा दिया जायेग उन्होंने बताया कि इस मामले में मुख्य भूमिका आरक्षक सुखलाल एवं मनोज मोरे की रही उनके साथ रापमाल सिंह,गजेंद्र रावत ,संदीप पटेल,रामचंद्र सवकरे की सरहानीय भूमिका रही।