जब झलका शिवराज का दर्द, बोले-‘भाइयों और बहनो क्या मिल गया कांग्रेस को जिताकर’

shivraj-pain-out-in-election-sabhaa-in-nepanagar-

शेख रईस| बुरहानपुर।


लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के लिए प्रदेश में अब प्रचार तेज हो गया है| जिसके लिए दिग्गज नेता पूरी ताकत झोंक रहे हैं| हाई प्रोफाइल सीटों में शुमार खंडवा लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत नेपानगर विधानसभा के खकनार के बिजोरी में गुरूवार को पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभा की|  सभा में भाजपा प्रत्याशी नंदकुमार सिंह चौहान, पूर्व विधायक मंजू दादू आदिवासीयों के साथ जमकर थिरके।  इस दौरान सभा में सम्बोधित करते हुए शिवराज ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला वहीं सत्ता जाने का दर्द भी झलका| 

पूर्व सीएम ने सभा को सम्बोधित करते हुए जनता से सवाल कर पूछा कांग्रेस को जिता कर क्या मिल गया, कांग्रेस की सरकार बना कर क्या मिल गया भाइयों बहनों| भाजपा शासन काल की योजनों के बंद होने पर निशाना साधा| उन्होंने कहा उनकी सरकार ने 10वीं और 12वीं के टार्पस को लेपटॉप दिए लेकिन कांग्रेस की वर्तमान सरकार उनसे सायकिले भी छीन लेगी। शिवराज ने कांग्रेस किसानो की ऋण माफी को एक धोका बताया |

शिवराज और मोदी पर बरसे कमलनाथ 

दूसरी तरफ बुरहानपुर जिले के खकनार में ही आज प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस प्रत्याशी अरूण यादव के समर्थन में सभा को सम्बोधित कर बताया कि तत्कालीन भाजपा की शिवराज सरकार ने प्रदेश को किसानो की आत्महत्या बेरोजगारी और महिलाओं के साथ बलात्कार के लिए देश में नम्बर 1 बनाकर छोडा है|  मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने उदबोधन में सरकार के गठन के साथ किसानो के दो लाख तक के कर्ज माफ करने के अपने वचन को दोहराते हुए बताया कि विधानसभा चुनाव के बाद 75 दिनो में उनके द्वारा 85 से अधिक घोषणाओं को पूरा किया है, लोकसभा की आचार संहिता हटने के बाद शेष सभी किसानो के 2 लाख रूपये तक के कर्ज माफ किए जाएंगे| साथ ही मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की स्कील इंडिया डीजिटल इंडिया और स्टेन्डअप इंडिया जैसी योजनाओं का मखौल उडाते हुए कहा की लोकसभा चुनाव 2014 में नरेन्द्र मोदी ने दो करोड युवाओं को रोजगार देने आतंकवाद और भ्रष्टाचार जैसे मुद्दो पर लगाम लगाने के साथ ही कालाधन वापस लाने के सपने दिए थे परंतु अब मोदी जी के यह सपने केवल सपने बनकर रह गए है, उन्होने खकनार की जनत�� का अव्हान करते हुए कहा कि वह 19 मई को होने वाले मतदान में कांगे्रस प्रत्याशी अरूण यादव के चुनाव निशान हाथ के पंजे का बटन दबाकर कांग्रेस को जिताने के साथ ही अपने भविष्य का बटन दबाऐ कांग्रेस न्याय योजना के तहत गरीब परिवार को 72 हजार रूपये वार्षिक देकर गरीबो का उत्थान कर उनके साथ न्याय करना चाहती है, यह राशि प्रतिमाह 6 हजार रूपये माह से गरीब परिवार के खाते में डालकर उसके साथ न्याय करेगी।

कौन मारेगा बाजी 

बता दें  कि मध्यप्रदेश की सबसे हाई प्रोफाइल सीट में से एक खंडवा लोकसभा में दो दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है|  यहा दोनों ही प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस में सीधा मुकाबला देखने को मिल रहा है|  भाजपा ने जहा पूर्व प्रदेशाध्यक्ष और वर्तमान सांसद नंदकुमार सिंह चौहान को मैदान में उतारा है तो वही कांग्रेस ने पूर्व प्रदेशाध्यक्ष पूर्व सांसद अरुण यादव को मैदान में उतारा है। दोनों ही प्रत्याशियों के बीच ये तीसरा मुकाबला है 2 मुकाबलों को दोनों ही ने एक एक मे जीत हासिल की थी अब देखना है इस बार बाजी कौन मरता है।