मदरसों में पढ़ाई करने आये अन्य प्रदेशों के बच्चों को घर भिजवाने, लगाई प्रशासन से गुहार

शेख रईस बुरहानपुर।

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर ज़िले में मदरसों में पढ़ने वाले लगभग 110 से ज्यादा बच्चो को उनके घर भेजने को लेकर प्रयास तेज हो गए है। युवा कांग्रेस नेता नूर काज़ी ने बताया कि धार्मिक शिक्षा ग्रहण करने देश भर से गरीब जरूरत मन्द बच्चें पढ़ाई करने बुरहानपुर स्थिति विभन्न मदरसों में आते जो साल भर में एक दो बार अपने घर जाते है जिसमें सबसे ज्यादा बच्चों को रमज़ान की छुट्टियों में अपने अपने घर जाने को मिलता है।
चुकी देशभर में लॉक डाउन लगा होने मदरसा फैजुल उलूम,मदरसा नोमान ए राजा,जामिया अशरफिया के करीब 110 से ज्यादा बच्चें जो कि अन्य प्रदेशों के यही बुरहानपुर में फसे हुए हैं। जबकि ज्यादातर बच्चो के घर वापसी के टिकट भी बने हुए थे जो कि लॉक डाउन में ट्रेन बंद होने से निरस्त हो गए है। पत्र के माध्यम से नूर काज़ी ने जिला प्रशासन से मांग की है कि मदरसे के गरीब बच्चों को उनके घर तक भेजने की व्यवस्था शासन करें जिससे वे भी इस मुश्किल घड़ी में अपने परिवार के पास सुरक्षित पंहुच सके।