मध्य प्रदेश : स्वास्थ्य विभाग के डिप्टी डायरेक्टर बने रेडक्रॉस के चेयरपर्सन

छिंदवाड़ा जिला अस्पताल के एनेस्थेसियोलॉजिस्ट (एनेस्थीसिया विशेषज्ञ ) और रेडक्रॉस के चेयरपर्सन डॉ. गगन कोल्हे को स्वास्थ्य विभाग के उप निदेशक के रूप में नियुक्त किया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। छिंदवाड़ा जिला अस्पताल के एनेस्थेसियोलॉजिस्ट (एनेस्थीसिया विशेषज्ञ ) और रेडक्रॉस के चेयरपर्सन डॉ. गगन कोल्हे को स्वास्थ्य विभाग के उप निदेशक के रूप में नियुक्त किया है। इसके साथ छिंदवाड़ा जिला अस्पताल में अब सिर्फ एक एनेस्थीसिया विशेषज्ञ बचा है।

डॉ. कोल्हे की नियुक्ति पर रेडक्रॉस के पूर्व चेयरपर्सन मुकेश नाायक ने असंवैधानिक तरीके से उन्हें इस इस पद की जिम्मेदारी देने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि रेडक्रॉस की वर्तमान कार्यकारिणी का चुनाव नियमों को ताक पर रखकर किया गया है। 16 सदस्यों का कार्यकाल बाकी था और मुझे खुद चुनाव में भाग नहीं लेने दिया गया। ये सब रेडक्रॉस के राजनीतिकरण के लिए किया जा रहा है।

ये भी पढ़े … विश्व पर्यावरण दिवस पर लें पर्यावरण संरक्षण का संकल्प, जानिये ये जरूरी बातें

कांग्रेस ने भी लगाया राजनीतिकरण का आरोप

प्रदेश के विपक्षी दल कांग्रेस ने भी इस निर्णय का विरोध किया है और साथ ही राजनीतिकरण का आरोप भी लगाया है। मध्य प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने कहा कि रेड क्रॉस चिकित्सा और सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाला एक प्रमुख संगठन है। लेकिन पिछले कुछ समय से इसका राजनीतिकरण किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने रेड क्रॉस के अध्यक्ष को उप निदेशक बनाया है। ऐसा उन्हें बंगले, कार और सुख-सुविधाओं का लाभ देने के लिए ही किया जा रहा है। इसी तरह अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी है। सरकार को इस आदेश को निरस्त करना चाहिए।

आपको बता दे, मध्य प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में पहले से ही डॉक्टरों की कमी हैं। एक्सपर्ट्स के 3618 पदों पर सिर्फ 666 विशेषज्ञ तैनात हैं।