कुंभ स्नान करते ही बदला मन, याद आये बच्चों के चेहरे, त्याग दिया सुसाइड का विचार

पुलिस ने ब्रजेश के पार्टनर मनोज प्रजापति को पूछताछ के लिए पुलिस थाने बुलाया है दोनों को बैठाकर आमने सामने बात करेगी जिससे जो आरोप 40 लाख की धोखाधड़ी के ब्रजेश ने मनोज पर लगाए हैं उसकी हकीकत सामने आ सके।   

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। पार्टनर पर 40 लाख की धोखाधड़ी का आरोप लगाने के बाद सुसाइड नोट (Suicide Note) छोड़कर पत्नी को साथ लेकर सुसाइड (Suicide) करने निकला व्यापारी 9 दिन बाद सकुशल वापस घर लौट आया है।  उसने पुलिस को बताया कि उन्होंने पहले ग्वालियर में ही सुसाइड (Suicide) का प्रयास किया लेकिन फिर जब हिम्मत नहीं हुई तो हरिद्वार चले गए। वहां कुंभ में गंगाजी में स्नान किया तो मन बदल गया और घर लौट आये। पुलिस ने व्यापारी के बयान दर्ज कर उसके पार्टनर को तलब किया है।

बहोड़ापुर थाना क्षेत्र की वर्षा कॉलोनी में रहने वाले कारोबारी ब्रजेश प्रजापति सोमवार 5 अप्रैल की रात पत्नी प्रीति को साथ लेकर सुसाइड (Suicide) के लिए निकल गए। परिजनों ने पहले उनकी  तलाश की लेकिन जब कहीं पता नहीं मिला तो मंगलवार 6 अप्रैल को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के बाद पुलिस ने तलाश शुरू की लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। परिजनों को तलाशी के दौरान दो पेज का एक सुसाइड नोट (Suicide Note) मिला है जिसमें ब्रजेश ने अपने पार्टनर मनोज प्रजापति पर 40 लाख रुपये हड़पने के आरोप लगाये और लिखा कि अब वो सहन नहीं कर सकता, उसे पार्टनर ने धोखा दिया है। इसलिए पत्नी प्रीति के साथ मरने जा रहा है। सुसाइड नोट (Suicide Note) में छोटे भाई को सम्बोधित करते हुए ब्रजेश ने लिखा है कि छोटू (प्रेम) तुझे मनोज प्रजापति से अपने भाई भाभी की मौत का बदला लेना है। परिजनों ने सुसाइड नोट (Suicide Note) पुलिस को सौंप दिया।

ये भी पढ़ें – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने निरस्त किया दमोह में होने वाला रोड शो, पार्टी करेगी डोर टू डोर संपर्क

पुलिस ब्रजेश प्रजापति और उसकी पत्नी को तलाशती रही लेकिन पुलिस को सफलता नहीं मिली इसी बीच 9 दिन बाद मंगलवार की शाम घर ब्रजेश पत्नी सहित वापस लौट आया। उन्होंने बहोड़ापुर थाना पुलिस को बताया कि घर से निकलने के बाद 5 अप्रैल वे सीधे सागरताल पहुंचे यहाँ दोनों ने छलांग लगाकर सुसाइड (Suicide) की कोशिश की लेकिन हिम्मत नहीं हुई। उनकी आँखों के सामने बच्चों के चेहरे याद आ गए लेकिन घर लौट नहीं सकते थे तो हरिद्वार की बस पकड़कर वहां पहुँच गए। हरिद्वार में कुंभ चल रहा है वहां रुक गए, भंडारे में खाना खाते रहे, गंगा जी में स्नान किया तो मन शुद्ध हो गया और सारे नकारात्मक विचार चले गए, बार बार मासूम दोनों बच्चों के चेहरे आँखों के सामने आने लगे तो फिर बस पकड़कर वापस घर आ गए।

ये भी पढ़ें – कल मंत्री और शीर्ष अधिकारियों के साथ ली कोरोना बैठक, आज संक्रमित निकले विधायक

पुलिस ने ब्रजेश और उसकी पत्नी प्रीति के बयान दर्ज कर लिए हैं। पुलिस ने ब्रजेश के पार्टनर मनोज प्रजापति को पूछताछ के लिए पुलिस थाने बुलाया है दोनों को बैठाकर आमने सामने बात करेगी जिससे जो आरोप 40 लाख की धोखाधड़ी के ब्रजेश ने मनोज पर लगाए हैं उसकी हकीकत सामने आ सके।