तेजस्विनी कार्यक्रम- बेटियों को सबल और साक्षर बनाने का सार्थक अभियान

छतरपुर, संजय अवस्थी। जिले में बेटियों को सबल और साक्षर बनाने के लिए तेजस्विनी कार्यक्रम चल रहा है। बुंदेलखण्ड में लड़कियों को अधिक नहीं पढ़ाया जाता है, इस मिथक को तोड़ने और लड़कियों को सशक्त करने के लिए ये योजना क्रियान्वित की जा रही है। दो इस दौरान कार्यक्रम के तहत दो छात्राओं ने दिनभर एसडीएम की कार्यप्रणाली समझी।

एसडीएम छतरपुर प्रियांशी भंवर ने तेजस्विनी अभियान शुरू करने के संबंध में मीडिया को बताया कि बुंदेलखण्ड में प्रायः यह देखा जाता है कि लड़कियों को ज्यादा पढ़ाया नहीं जाता है। उनका एक्सपोजर दुनिया को लेकर कम होता है। इसी बात को लेकर तेजस्विनी योजना की शुरूआत की गई है। तेजस्विनी योजना का उद्देश्य यह है कि समाज के और देश की भावी पीढ़ी को यह पता हो सके कि प्रशासन में किस तरह से काम होते हैं। उन्होंने बताया कि ऐसा कम ही होता है कि हमें बताया जाए कि जिले में कलेक्टर, एसपी, एसडीएम किस तरह से काम करते हैं। उन्हें स्वयं भी सर्विस में आने के बाद ही यह समझ में आया कि प्रशासनिक अधिकारी किस तरह से काम करते हैं। तेजस्विनी अभियान के द्वितीय क्रम में छात्राएं मंदाकिनी साहू और दिशा जैन ने शुक्रवार को दिन भर जिला प्रशासन की कार्यप्रणाली समझने के क्रम में छतरपुर आयोजित रोजगार मेले की कार्यप्रणाली के साथ-साथ एसडीएम की कार्यप्रणाली भी समझी।

दिशा जैन ने कहा कि उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है और प्रशासनिक क्रियाओं को समझने का अवसर मिला है। उन्होंने बताया कि देश में बेरोजगारी बढ़ रही है, रोजगार मेले में उपस्थित होकर पता चल रहा है कि कौन-कौन गतिविधियां कम्पनियां कर रही हैं। इस तेजस्विनी अभियान से उन्हें सार्थक प्रेरणा मिली है। इसी तरह मंदाकिनी साहू ने कहा कि एसडीएम प्रियांशी भंवर के प्रयास से उन्हें प्रशासनिक कार्यों को सीखने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि जिसकी जो इच्छा है वह उसे पाने के लिए आगे बढ़े पीछे नहीं हटें।

यह अनूठा कार्य है- प्रद्युम्न सिंह लोधी
तेजस्विनी अभियान के संदर्भ में प्रदेश के नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष एवं विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने कहा कि निश्चित रूप से एसडीएम ने अनूठा कार्य किया है। छतरपुर की दो बेटियां जो कक्षा 10वीं में प्रदेश में अव्वल रहीं हैं उन्हें एसडीएम के कार्यों की जानकारी से अवगत कराने के लिए एक दिन का एसडीएम बनाना अनुकरणीय कदम है। मैं चाहता हूूं कि जब इस विचारधारा के अधिकारी आएंगे तो जनता और अधिकारी की दूरी कम होगी तथा आपसी समन्वय का कार्य अच्छे से होगा।

सीएम का सपना साकार कर रही हैं एसडीएम- ललिता यादव
प्रदेश की पूर्व मंत्री ललिता यादव ने छतरपुर अनुविभाग की एसडीएम द्वारा संचालित तेजस्विनी अभियान की सराहना की है। उन्होंने कहा कि मीडिया के माध्यम से उन्हें खबर मिली। आज यहां जिला स्तरीय रोजगार मेले में उन्होंने प्रत्यक्ष भी देखा है कि एसडीएम प्रदेश में अव्वल छतरपुर जिले की दो बेटियां मंदाकिनी साहू और दिशा जैन को प्रशासनिक कार्यों की गतिविधियों से भलि भांति समझाने के  उद्देश्य से बेटियों को उत्तर दायित्व सौंपा है। ऐसा करके एसडीएम प्रियांशी भंवर मुख्यमंत्री के बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ अभियान के स्वप्न को साकार कर रही हैं। उन्होंने कहा कि मातृशक्ति जहां भी होती हैं वहां अच्छा करती हैं उनके अंदर करूणा एवं ममता का नेसर्गिक गुण विद्यमान होता है। उन्होंने इस कार्य के लिए एसडीएम को बधाई दी।