भाजयुमो महामंत्री सहित 4 लोगों ने परिवार पर किया जानलेवा हमला, पुलिस ने दर्ज किया मामूली मारपीट का मामला

पीड़ितों का कहना है कि नौगांव पुलिस आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है, यदि उन्हें न्याय नहीं मिला तो पूरा परिवार आत्मदाह कर लेगा।

भाजयुमो

छतरपुर, संजय अवस्थी। जिले के नौगांव थाना क्षेत्र में भाजयुमो नेता द्वारा एक परिवार पर जानलेवा हमला (deadly attack) किए जाने की खबर सामने आई है। दरअसल मामूली विवाद के बाद भाजयुमो नेता (bjym leader) ने सोनी परिवार के घर के बाहर ताबड़तोड़ फायरिंग (firing) की और पूरे परिवार को बेरहमी से पीटा। इस मामले में पुलिस भी टालमटोल कर रही है और पुलिस (police) ने मामूली मारपीट का मामला दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें… MP Teacher Recruitment: 30 हजार शिक्षकों को शिवराज सरकार ने दी बड़ी राहत, खत्म होगा इंतजार

जानकारी के मुताबिक नौगांव थाना क्षेत्र के ग्राम मऊसहानियां निवासी और भाजपा युवा मोर्चा के जिला मंत्री अप्पू राजा सोनी ने ही इस वारदात को अंजाम दिया है। उन्हीं के मोहल्ले में रहने वाले उन्हीं के परिवार के शिवदास सोनी से किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। इसके बाद शनिवार की शाम को अप्पू राजा सोनी, उसके छोटे भाई निकेत उर्फ निक्की सोनी और पिता देवेन्द्र सोनी ने शिवदास के घर के बाहर पहले ताबड़तोड़ फायरिंग की और उसके घर में घुसकर तोड़-फोड़ करते हुए शिवदास सहित उसके परिवार के सदस्यों को बेरहमी से पीटा। यहां तक की महिलाओं, बच्चियों को भी नहीं छोड़ा।

चूंकि अप्पू राजा सोनी और शिवदास सोनी का घर ग्राम के बस स्टैंड पर स्थित है और घटना शाम के समय थी इसलिए इतनी जबरजस्त फायरिंग के बाद पूरे गांव में सन्नाटा फैल गया, लोग दहशत के मारे घरों में छिप गए और कोई भी बाहर नहीं निकला। इस मारपीट का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। एक और वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें शिवदास के परिवार ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि पुलिस ने मामूली मारपीट का मामला दर्ज किया है जबकि अप्पू राजा सोनी ने कई राउंड फायरिंग कर उन्हें जान से मारने का प्रयास किया था। पीडि़त का पूरा परिवार वीडियो में बिलख-बिलख कर अपने ऊपर हुए अत्याचार को बयां कर रहा है।

यह भी पढ़ें… सिंगरौली: एक ही दिन में आत्महत्या और हत्या के अलग अलग मामले इस थाने में हुए दर्ज, इलाके में दहशत का माहौल

पीड़ितों का कहना है कि नौगांव पुलिस आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है, यदि उन्हें न्याय नहीं मिला तो पूरा परिवार आत्मदाह कर लेगा। परिजनों का यह भी आरोप है कि आरोपी अप्पू राजा के परिवार को राजनैतिक संरक्षण प्राप्त है जिस कारण से उन पर कार्यवाही नहीं की जा रही है। वे एसपी को अपनी व्यथा सुनाना चाहते हैं लेकिन दबंगों के भय के कारण वे घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। पुलिस के अनुसार अभी आरोपियों के विरुद्ध धारा 452, 336, 323, 294, 427, 506, 34 आईपीसी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर मामले की विवेचना की जा रही है।