शादी में पहुंचा कोरोना पॉजिटिव, दूल्हा-दुल्हन, नाई, बारातियों सहित 87 लोग क्वारंटाइन

छतरपुर । संजय अवस्थी| कोरोना (Corona) की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रशासनिक प्रबंधों के बीच जिले में एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। बड़ामलहरा के मदनीवार का निवासी एक 40 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव होने के बाद भी प्रशासन को गुमराह कर एक विवाह समारोह में शामिल हो गया। अब इस युवक के संपर्क में आए वर-वधु पक्ष सहित कुल 87 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। प्रशासन सभी की सेम्पलिंग करा रहा है। मामला बड़ामलहरा क्षेत्र के ग्राम बंधा चंदौली का है।

ये है मामला
जानकारी के मुताबिक गुडग़ांव में मजदूरी करने वाला एक 40 वर्षीय युवक 13 जून को ललितपुर-टीकमगढ़ के रास्ते सीधे बड़ामलहरा के अस्पताल पहुंचा था। कोरोना जैसे लक्षण होने के कारण अस्पताल में उसकी सेम्पलिंग कराई गई और इसके बाद उसे ग्राम मदनीवार में ही होम क्वारंटाइन करने की सलाह देकर छोड़ दिया गया। 13 तारीख की ही शाम को उक्त युवक होम क्वारंटाइन करने की जगह अपने साढू की बेटी की शादी में शामिल होने के लिए घुवारा के निकटवर्ती गांव में बंधा चंदौली पहुंच गया। 14 तारीख की शाम जब युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी तब प्रशासनिक टीमों ने उक्त युवक को कोविड सेेंटर में ले जाने के लिए ग्राम मदनीवार का रूख किया। जैसे ही टीम मदनीवार पहुंची तो यहां मिली जानकारी से टीम के होश उड़ गए। टीम को पता लगा कि युवक को बड़ामलहरा से मदनीवार आया ही नहीं बल्कि वहीं से शादी में शामिल होने के लिए ग्राम बंधा चंदौली पहुंच गया था। युवक के साथ मदनीवार का सरपंच भी था जो इस युवक का भाई है। 24 घंटे तक यह कोरोना पॉजिटिव ग्राम बंधा चंदौली में न सिर्फ विवाह समारोह में शामिल हुआ बल्कि यहां भोजन व्यवस्था में भी सहयोग देता रहा।

14 जून की शादी जब ये कहानी प्रशासन को पता लगी तो उसके होश उड़ गए। रात को ही कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह के निर्देश पर जिला पंचायत सीईओ हिमांशु चन्द्रा और एक प्रशासनिक टीम ग्राम बंधा चंदौली पहुंची और युवक को एंबुलेंस में बैठाकर अस्पताल भेजा गया। प्रशासन ने ही अपनी मौजूदगी में रात को यह शादी कराई और फिर शादी में शामिल वर-वधु पक्ष के रिश्तेदार, बाल काटने वाले नाई सहित 87 लोगों को यहां के सरकारी स्कूल में क्वारंटाइन किया गया है। उधर कोरोना पॉजिटिव पाए गए युवक को छतरपुर के महोबा रोड स्थित छात्रावास के कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया है।

अब 87 लोगों की होगी कोरोना जांच
कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में काफी समय तक इस विवाह समारोह में शामिल हुए लोग बने रहे इसलिए प्रशासन किसी भी तरह का कोई रिस्क नहीं लेगा। पॉजिटिव के संपर्क में आए सभी 87 लोगों को संस्थागत क्वारंटाइन किया गया है। ग्राम बंधा चंदौली को सेनेटाइज कराने के बाद इसे कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है। सभी लोगों के सेम्पल लिए जा रहे हैं। सबकी कोरोना जांच कराई जाएगी।

युवक पर होगी एफआईआर, बीएमओ को नोटिस
इस मामले में गंभीर लापरवाही बरतने एवं लोगों की जान को मुश्किल में डालने वाले ग्राम मदनीवार निवासी उक्त कोरोना पॉजिटिव युवक के विरूद्ध अब धारा 269 एवं 270 आईपीसी के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया जा रहा है। इतना ही नहीं लापरवाही को रोकने की जिम्मेदारी जिस सरपंच की थी वह खुद युवक के साथ शादी में गया इसलिए उसके विरूद्ध भी मुकदमा कायम किया जा रहा है। वहीं बड़ामलहरा बीएमओ हेमंत मरैया को भी सीएमएचओ ने नोटिस जारी किया है क्योंकि उन्होंने सेम्पल लेने के बाद युवक को होम क्वारंटाइन कराया था जबकि उसे कोविड सेेंटर में भर्ती करना था।

अब सेम्पल देने के बाद घर जाने नहीं मिलेगा
इस लापरवाही के बाद अब जिला प्रशासन आगे से इस तरह की लापरवाहियों को रोकने के लिए गंभीर कदम उठा रहा है। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने बीते रोज ही एक नया आदेश जारी किया है जिसके तहत अब जिन लोगों के कोरोना सेम्पल लिए जाएंगे उन्हें होम क्वारंटाइन नहीं कराया जाएगा बल्कि कोविड सेंटर में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में पुलिस निगरानी में रखा जाएगा।