नियम ताक पर रख मंत्री की पत्नी ने दिखाई ट्रेन को हरी झंडी

bjp-minister-of-state-wife-inaugurate-train-in-chatarpur

छतरपुर। मध्य प्रदेश के छतरपुर और खजुराहो के यात्रियों को बड़ी सौगात मिली है।  खजुराहो से ललितपुर, भोपाल, उज्जैन होते हुए इंदौर जाने वाले यात्रियों को हफ्ते में 4 दिन खजुराहो एवं छतरपुर से ट्रेन मिल सकेगी। शनिवार को इस ट्रेन को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया गया। लेकिन हरी झंडी दिखाए जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। ट्रेन को हरी झंडी भाजपा सांसद वीरेन्द्र कुमार खटीक को दिखाना थी। लेकिन वह किसी कारण वहां नहीं पहुंच सके। सांसद की अनुपस्थिति में उनकी पत्नी कमल खटीक ने ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 

दरअसल, इस ट्रेन को हरी झंडी स्थानीय सांसद वीरेंद्र खटीक को दिखाना थी। लेकिन उनकी अनुपस्थिति में ये काम उनकी पत्नी ने किया। अब सवाल उठ रहे हैं कि रेलवे के कई अधिकारियों के वहां होने के बाद भी सांसद की पत्नी ने कैसे नियम को ताक पर रख कर इस काम को अंजाम दिया है। वह किसी भी सरकारी पद पर नहीं है। इस मामले पर कांग्रेस ने भाजपा पर निशाना साधा। इस कार्यक्रम में स्थानीय कांग्रेस नेताओं को भी नहीं बुलाया गया। जिस पर कांग्रेसियों ने ऐतराज भी जताया। 

ये रहेगा ट्रेन का समय

रविवार से इस रूट की नियमित टे्रन नंबर है 19664 जो कि खजुराहो से हफ्ते में 4 दिन शनिवार, रविवार, मंगलवार और शुक्रवार को रात्रि 11.30 बजे रवाना होगी, यह ट्रेन रात्रि 12.03 बजे छतरपुर पहुंचेगी। यहां से खरगापुर, टीकमगढ़, ललितपुर, बीना, विदिशा, सांची, संत हिरदाराम नगर भोपाल, उज्जैन होते हुए अगले दिन 1.50 बजे इंदौर पहुंचेगी। वहीं इंदौर से यह ट्रेन शनिवार, रविवार, सोमवार और बुधवार को शाम 3.55 बजे रवाना होगी। यह ट्रेन अगले दिन सुबह 6 बजे खजुराहो पहुंचेगी।

कांग्रेसी नेताओं को नहीं किया आमंत्रित

रेल मंत्रालय द्वारा खजुराहो और छतरपुर में इस ट्रेन के उद्घाटन का संक्षिप्त कार्यक्रम रखा गया जिसमें सिर्फ भाजपा नेताओं को शामिल किया गया। मप्र में कांग्रेस की सरकार है एवं खजुराहो में राजनगर विधायक नातीराजा के मौजूद होने के बावजूद भी उन्हें इस कार्यक्रम की कोई जानकारी नहीं दी गई न ही आमंत्रण दिया गया। कांग्रेस नेताओं ने इस पर नाराजगी जाहिर की है। उद्घाटन अवसर पर सिर्फ भाजपा नेता मौजूद रहे।