CM के सख्त तेवरों के बाद भी बेखौफ शराब माफिया, अब छतरपुर में शराब पीने से 4 की मौत

घटना के बाद छतरपुर प्रशासन और पुलिस (Chhatarpur administration and police) में हड़कंप मच गया है।

छतरपुर

छतरपुर, संजय अवस्थी। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) के सख्त तेवरों के बाद भी शराब माफिया बेखौफ है। रतलाम, उज्जैन और मुरैना के बाद अब छतरपुर (Chhatarpur) से जहरीली शराब कांड (Poisonous liquor scandal) का मामला सामने आया है। यहां जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत हो गई। घटना के बाद छतरपुर प्रशासन और पुलिस (Chhatarpur administration and police) में हड़कंप मच गया है। माना जा रहा है कि घटना के सीएम के पास पहुंचते ही बड़ा एक्शन लिया जा सकता है।

यह भी पढ़े… MP Board : 10वीं-12वीं के छात्रों के लिए बड़ी खबर, फिर से तैयार होंगे प्रश्नपत्र और ब्लू प्रिंट

दरअसल, आज रविवार को छतरपुर जिले के हरपालपुर थाना क्षेत्र के ग्राम परेथा में जहरीली शराब पीने से जहां पिता-पुत्र की मौत हो गई वहीं कुछ लोग बीमार हो गए जिन्हें जिला अस्पताल भेजा गया लेकिन उनमें से दो लोगों की मौत हो गई और एक जिंदगी व मौत से जंग लड़ रहा है। सुबह से स्वास्थ्य अमले ने गांव पहुंचकर बीमार हो चुके लोगों की जांच की और गंभीर हालत होने पर चिन्हित किए गए तीन लोगों को जिला अस्पताल भिजवाया। गंभीर लोगों में से एक वह युवक शामिल है जिसके परिवार के दो सदस्य काल के गाल में समा गए हैं।

डीआईजी विवेकराज सिंह, कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह व एसपी सचिन शर्मा ने परेथा पहुंचकर मौतों के बारे में जानकारी ली। वहीं इसके पहले स्वास्थ्य टीम और हरपालपुर टीआई के साथ ही नौगांव एसडीओपी ने गांव में पहुंचकर जानकारी जुटाई।

यह भी पढ़े… Valentines Day : चर्चाओं में दिग्विजय सिंह का यह Tweet, यूजर्स जमकर कर रहे ट्रोल

काला जादू या जहरीली शराब की चर्चाएं

थाना क्षेत्र के ग्राम परेथा में एक ही परिवार के दो सदस्यों की एक के बाद एक मौत होने से सनसनी फैल गई। पिता-पुत्र की मौत के पीछे जहरीली शराब पीना सामने आ रहा है। वहीं परिवार के लोग कह रहे हैं कि किसी ने काले जादू के माध्यम से उनके परिवार को निशाना बनाया है। शीतल प्रसाद और उसके पुत्र हरगोविंद की मौत होने के अलावा हरगोविंद के भाई हरप्रसाद की भी हालत नाजुक बनी हुई है। सूत्र बताते हैं कि हरगोविंद की मौत के गम में परिवार ने खाना नहीं खाया और शराब पी ली जिससे उल्टी दस्त शुरू हो गई। सूत्रों के मुताबिक जहरीली शराब का सेवन करने से सबसे पहले आंखों की रोशनी कम होती है और उसके साथ ही उल्टी-दस्त शुरू हो जाते हैं।

डॉक्टरों की टीम गांव पहुंची

रविवार को सुबह डॉ. जगदीश अहिरवार, डॉ. मनीष गुप्ता, एएनएम सहित एक दर्जन सदस्यों की मेडिकल टीम परेथा पहुंची और जांच की। प्रथम दृष्टया शराब अधिक पीने से मौत होने की बात सामने आ रही है। हालंाकि प्रशासन द्वारा अभी मौत की वजह के बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दी गई। जांच के  दौरान तुलसीदास 42 वर्ष, लल्लूराम 75 वर्ष व जयराम अहिरवार को जिला अस्पताल भेजा गया। रविवार शाम तुलसीदास पुत्र लीलाधर   व लल्लूराम पुत्र गिरधर की मौत हो गई। जयराम की हालत बेहद नाजुक है

तेरहवीं से शुरू हुआ शराब पीने का सिलसिला

ग्रामीणों के मुताबिक गत 9 फरवरी को शीतल प्रसाद की पत्नि की तेरहवीं थीं। इस दौरान रिश्तेदार और परिचित इकट्ठे हुए थे। शीतल प्रसाद तथा उसके परिवार के सदस्यों ने तेरहवीं से ही शराब पीनी शुरू कर दी थी। 12 फरवरी को शीतल के पुत्र हरगोविंद की मौत हो गई। वहीं 13 फरवरी को शीतल प्रसाद अहिरवार की जान चली गई। लोग कुछ समझ पाते कि एक के बाद एक मौत होने से सनसनी फैल गई। शीतल के बेटे जयराम की भी तबियत बिगड़ गई जिसे अस्पताल भिजवाया गया, जिनकी हालत गंभीर है उनकी आंखों की रोशनी कम हो गई है और उल्टी दस्त हो रहे हैं।

यूपी से आती है कच्ची शराब

सूत्रों के मुताबिक दो मौतें होने और तीन लोगों की हालत नाजुक होने के बाद आबकारी विभाग भी हरकत में आ गया है। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि उप्र से ओपी शराब लाकर परेथा और आसपास के इलाकों में बेची जाती है। जिन लोगों की मौत हुई है उन्होंने भी शराब पी थी। शराब का अवैध धंधा भी गांव में खूब फल-फूल रहा है। आबकारी विभाग में सहायक आबकारी अधिकारी के पद पर पदस्थ मुकेश मौर्य के नेतृत्व में परेथा जाकर विभाग ने अपनी जांच शुरू की है। जांच के प्रमुख बिन्दुओं में वह शराब भी शामिल है जिसका मृतकों ने सेवन किया था। आखिर यह शराब कहां से आती है और इसे कौन बेचता है इन सबकी जांच होने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

इनका कहना-

फिलहाल मामले की हर पहलू से जांच की जा रही है। पिता-पुत्र की मौत व अन्य लोगों के बीमार होने की वजह क्या है, यह कहना जल्दबाजी होगी। जांच में जो निकलकर आएगा उसके आधार पर कार्यवाही होगी।

विवेकराज सिंह, डीआईजी, छतरपुर रेंज

परेथा में एक ही परिवार के दो लोगों की मौत हुई है। मृतक के परिवार के सदस्यों से बातचीत कर कारण जानने का प्रयास कर रहे हैं। इस संबंध में कुछ चर्चाओं के माध्यम से बातें सामने आई हैं। जानकारी लेकर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

शीलेन्द्र सिंह, कलेक्टर, छतरपुर

परिवार के लोग शराब पीने और काला जादू कर खिलाने-पिलाने की बातें कर रहे हैं। हम वैज्ञानिक सबूतों को इकट्ठा कर रहे हैं ताकि मामले की सही जानकारी सामने आ सके।

सचिन शर्मा, एसपी, छतरपुर

MP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here