रेत कारोबारी और कांग्रेस विधायक की बातचीत का ऑडियाे वायरल, मचा हड़कंप

छतरपुर।

सोशल मीडिया पर एक साथ कई ऑडियो तेजी से वायरल हो रहे है। जिसमें सपा नेता व रेत कारोबारी चरण सिंह, छतरपुर से कांग्रेस  विधायक आलोक चतुर्वेदी और अफसर से बातचीत करते हुए सुनाई दे रहे है।  चरण सिंह और आलोक चतुर्वेदी की कथित बातचीत के इन ऑडियो में रेत खदानों के नए ठेकेदार को जमने न देने और रेत के कारोबार पर पकड़ बनाए रखने की बात कही गई है।अवैध खनन पर कार्रवाई को लेकर चरण सिंह जब खनिज अधिकारी व दूसरे प्रशासनिक अफसरों की समझ और भूमिका पर सवाल उठाते हैं तो विधायक उन्हें आश्वस्त कर रहे हैं कि जैसा हम चाहेंगे अफसर वैसी ही रिपोर्ट देंगे।

वही दूसरे ऑडियो में आरआई से कलेक्टर तक को रिश्वत की बात कही जा रही है।एक ऑडियाे में चरण सिंह आरआई सूर्यमणि मांझी से कहता है कि उसका कर्मचारी एसडीएम के लिए 1 लाख रुपए और 50 हजार रुपए मांझी के लिए पहुंचा देगा। इतना ही नही एक अन्य ऑडियो में रेत कारोबारी  आरआई से  जिले से लेकर प्रदेश के अधिकारियों की पोल खोलने की धमकी दे रहा है। वह कह रहा है कि अगर उसके अवैध रेत खदानों पर अब कार्रवाई हुई तो सभी अफसरों को बेनकाब कर देगा। एक साथ 25 लोगों को सस्पेंड करवाएगा। ऑडियो में चरण सिंह ये कहते सुने जा रहे हैं कि सब रुपए ले जा रहे हैं, फिर भी कार्रवाई ठीक नहीं है। 

ऑडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया है। ऑडियो ऐसे समय पर वायरल हुए है जब सरकार माफियाओं पर शिकंजा कसने की बात कह रही है।सुत्रो की माने तो सरकार पर दबाव बनाने के लिए ये ऑडियो वायरल किए गए है, हालांकि इसके पीछे पूरी सच्चाई क्या है यह तो जांच के बाद ही सामने आएगा।

सभी ने ऑडियो से किया किनारा

 रेत कारोबारी चरण सिंह ने इसे साजिश बताया है । उनका कहना है कि ऑडियो रिकार्डिंग उसने वायरल नहीं की है। बल्कि किसी ने उसका मोबाइल हैक करके वायरल की हैं। आरआई सूर्यमणि मांझी का कहना है कि रिकाॅर्डिंग में माैजूद आवाज उनकी नहीं है।  वही विधायक ने ऑडियो से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि उनका इससे कोई लेना-देना नही। यह उनके खिलाफ एक राजनैतिक साजिश है।हालांकि कलेक्टर ने जांच की बात कही है।

नोट-(एमपी ब्रेकिंग इन ऑडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता)