अब कलेक्ट्रेट में कोरोना की एंट्री, एसडीएम के बाद एडीएम भी संक्रमित

कोरोना

छतरपुर, संजय अवस्थी। जिले में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। अब तक स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, न्यायालय के कर्मचारियों को संक्रमित कर चुका यह वायरस अब कलेक्ट्रेट में दस्तक दे चुका है। छतरपुर एसडीएम और उनके चालक के पॉजिटिव निकलने के बाद जिले के अतिरिक्त कलेक्टर भी कोरोना से संक्रमित हो गए हैं। शनिवार को एक बार फिर जिले में 33 नए संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई। इन मरीजों में फोरलेन निर्माण कर रही कंपनी पीएनसी के 19 कर्मचारी शामिल हैं। नए मरीजों में छतरपुर शहर के 11, सरवई के दो, नौगांव का एक मामला सामने आया है।

शहर में यहां मिले नए संक्रमित
सागर से आई कोरोना नतीजों की नई रिपोर्ट में छतरपुर शहर के 11 मरीज पाए गए हैं। इनमें छतरपुर के अतिरिक्त कलेक्टर के अलावा दो दिन पहले संक्रमित पाए गए सागर रोड निवासी भाजपा के पूर्व विधायक के 35 वर्षीय पुत्र और दो वर्षीय नातिन में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही शहर की चौबे कॉलोनी से 25 वर्षीय डॉक्टर महिला, शांतिनगर कॉलोनी से खरे परिवार की 51 वर्षीय महिला और 53 वर्षीय पुरूष में संक्रमण मिला है। गायत्री मंदिर असाटी मोहल्ले से 24 वर्षीय युवक, ग्रीन एवेन्यु कॉलोनी से 36 वर्षीय महिला, सीनेट कॉलोनी से 52 वर्षीय पुरूष, 45 वर्षीय महिला में संक्रमण पाया गया है। इसके साथ ही नौगांव के वार्ड नं. 20 से 17 वर्षीय किशोर और सरवई से 45 वर्षीय महिला और 70 वर्षीय पुरूष में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

पीएनसी की बड़ी लापरवाही, प्लांट से निकल रहे मरीज
झांसी-खजुराहो फोरलेन निर्माण कर रही पीएनसी कंपनी ने अपने कर्मचारियों के साथ जबर्दस्त लापरवाही की है। कंपनी के बसारी स्थित प्लांट से लगातार मरीज सामने आ रहे हैं। शनिवार को सामने आई रिपोर्ट में भी एक साथ 19 कर्मचारी संक्रमित पाए गए। उक्त सभी कर्मचारी पुरूष हैं। इसके पहले भी एक दर्जन से ज्यादा कर्मचारी इसी कंपनी से संक्रमित मिल चुके हैं। ग्रामीणों ने लगभग 10 दिन पहले ही शिकायत की थी कि कंपनी के इस प्लांट में सीमित जगह पर लगभग 200 कर्मचारी निवास करते हैं जिनमें से कई लोग बीमार हैं, इसके बावजूद न तो वे इलाज करा रहे हैं और न ही कंपनी सोशल डिस्टेंस और मास्क लगाने पर जोर दे रही है। आखिरकार ग्रामीणों की शिकायत सही साबित हुई। इस कंपनी से अब तक 10 से ज्यादा कर्मचारी पॉजिटिव निकल चुके हैं। बताया गया है कि कंपनी के बसारी स्थित इसी प्लांट पर मेस भी चलता था और यहां से बना खाना प्लांट के बाहर काम कर रहे कर्मचारियों तक भी पहुंचता था। कई दिनों तक कुछ कर्मचारियों के बीमार रहने के बाद भी कंपनी ने इसे गंभीरता से नहीं लिया जिसका परिणाम अब सामने आ रहा है।

39 मरीजों को किया डिस्चार्ज
छतरपुर जिले के अलग-अलग कोविड सेन्टर्स से उपचार के बाद 39 मरीजों की सकुशल घर वापसी हुई है। आज कोविड केयर सेन्टर लवकुशनगर से 5 , महोबा रोड से 6, ढड़ारी से 1, बक्स्वाहा से 1, गौरिहार 3, नौगांव से 2, खजुराहो से 10, जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से 3, सागर से 2, चिरायु अस्पताल भोपाल से 1 और होम आइसोलेशन से 5 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। जिले से अब तक 814 कोरोना मरीज डिस्चार्ज किए जा चुके हैं।

फैक्ट फाइल
कुल संक्रमित – 1049
डिस्चार्ज हुए – 814
एक्टिव केस – 211
मौत – 24
सेम्पल – 24385
रिकवरी रेट – 77.67

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here