लोकायुक्त ने 15 हजार की रिश्वत लेते पटवारी को रंगे हाथों पकड़ा

छतरपुर। कम्प्यूटर में रिकार्ड सुधार के ऐवज में 20 हजार की रिश्वत मांगने वाले हल्का पटवारी को लोकायुक्त सागर की टीम ने 15 हजार रूपए की रिश्वत लेते वक्त रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। उधर पटवारी ने खुद को बेकसूर बताया है।

उप-तहसील के हल्का सिंगारपुर में पदस्थ पटवारी अनारीलाल रैकवार को रिश्वत लेते गिरफ्तार कराने वाले कृषक संतू पुत्र कट्टू कोरी ने लोकायुक्त में शिकायत दी थी कि पटवारी द्वारा कम्प्यूटर में रिकार्ड सुधार कराने के बदले 20 हजार रूपए मांगे जा रहे हैं। संतू कोरी के मुताबिक पटवारी द्वारा मांगे गए 20 हजार में से 5 हजार रूपए पहले दे दिए थे। शेष 15 हजार रूपए दिए जाने थे। लोकायुक्त में शिकायत करने के बाद जब इसकी जांच की गई तो शिकायत सही पायी गई और पटवारी को दबोचने के लिए योजना बनाई गई। सागर लोकायुक्त एसपी रामेश्वर सिंह यादव के निर्देशन में उप पुलिस अधीक्षक राजेश खेड़े की टीम को कार्यवाही के लिए भेजा गया था। सुबह करीब 10 बजे सरवई से गौरिहार जाने वाले मार्ग में नहर की पुलिया के पास पटवारी अनारीलाल को 15 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया गया। किसान संतू ने जैसे ही पटवारी को पैसे थमाए वैसे ही लोकायुक्त की टीम ने उसे गिरफ्तार कर उसके हाथ धुलवाए तो पूरा पानी लाल हो गया।