ऑनलाइन गेम के खिलाफ छतरपुर एसपी की सकारात्मक पहल, ऐसा किया तो बच्चों का करेंगे सम्मान

वहीं पुलिस का कहना है कि उनका प्रयास है कि यह बच्चे ऑनलाइन गेम्स से दूर रहें। और अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें। इसी को लेकर उन्होंने ऐसा प्रयास किया है।

छतरपुर, संजय अवस्थी। छतरपुर (Chhatarpur) में 30 जुलाई को पहले फ्री फायर (free fire) में हारने के बाद एक 13 वर्षीय बच्चे ने आत्महत्या (suicide) कर ली थी। जिसके बाद एमपी सरकार (MP Govt) ने कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। वहीं अब ऑनलाइन गेम्स (online games) की वजह से होने वाले सभी तरह के घटनाओं और अपराधों के खिलाफ छतरपुर एसपी (Chhatarpur SP) सचिन शर्मा ने एक मुहिम चलाई है। जिसमें जो भी बच्चे ऑनलाइन गेम्स को अपने मोबाइल से अनइंस्टॉल करते हैं तो उनका एसपी द्वारा सम्मान किया जाएगा ।

यह भी पढ़ें…भाजपा के वरिष्ठ नेता का हृदयाघात से निधन, पार्टी में शोक लहर

इस मुहीम के बाद आज करीब 20 से ज्यादा बच्चे छतरपुर एसपी कार्यालय पहुंचे थे।और उन्होंने संकल्प लिया कि अब हम ऑनलाइन के नहीं खेलेंगे। और अपने मोबाइलों से ऑनलाइन गेम अनइंस्टॉल कर दिए हैं। दरअसल 30 जुलाई को 14 वर्षीय किशोर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। और उसके बाद सुसाइड नोट छोड़ा था कि वह ऑनलाइन गेम फ्री फायर में अपने परिजनों के 40 हजार रुपये हार गया था और इससे वह बेहद आहत हैं। और इसी के कारण उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। हालांकि पुलिस ने फ्री फायर गेम संचालक खिलाफ मामला दर्ज किया था।

यह भी पढ़ें…देश के ओलंपिक खिलाड़ी होंगे स्वतंत्रता दिवस पर विशेष अतिथि , प्रधानमंत्री ने किया ऐलान

वहीं पुलिस का कहना है कि उनका प्रयास है कि यह बच्चे ऑनलाइन गेम्स से दूर रहें। और अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें। इसी को लेकर उन्होंने ऐसा प्रयास किया है। आये आये सभी बच्चों ने संकल्प लिया है कि वह खुद को ऑनलाइन गेम से दूर रखेंगे और टेक्नोलॉजी सही इस्तेमाल करेंगे। पढ़ाई में इस्तेमाल करेंगे। आज हमने बच्चों का सम्मान किया है क्योंकि उन्होंने यह स्वयं से निर्णय लिया है। जहां उन्होंने खुद से गेम को डिलीट किया। इन सभी बच्चों को उज्जवल भविष्य के लिए मैं शुभकामनाएं देता हूं।