छतरपुर, संजय अवस्थी। प्रदेश में विपक्ष शिवराज सरकार को पहले ही कुपोषण के मामले में घेरे हुए है और कुपोषण का मुद्दा गरमाया हुआ है, वहीं छतरपुर जिले से बच्चों के स्वास्थ के साथ खिलवाड़ करने  का मामला सामने आया है,जहां बच्चों को कीड़े लगा और धूल से भरा चावल बांटा गया है।

मामला जिले के हरपालपुर के मवैया और रगौली का है,जहां बच्चों को एमडीएम (मिड डे मील) के लिए शासकीय राशन दुकानों से स्कूलों में खाद्यान्न भेजा गया था,लेकिन उस खाद्यान्न चावल में कीड़े( तिलूला) पड़े हुए थे। हद तो तब हो गई जब इस खराब चावल को स्कूल द्वारा बच्चो को भी बांट दिया गया।

जब यह खराब चावल बच्चों के अभिभावकों ने देखा तो इसकी मौखिक शिकायत स्कूल प्रबंधन को की गई। स्कूल प्रबंधन ने अपनी गलती का ठीकरा राशन दुकान पर फोड़ते हुए  कहा कि यह खाद्यान्न उनके द्वारा भेजा गया है,वही बच्चों का कहना है कि इतना खराब चावल तो जानवर भी नही खा रहे जो उन्हें दिया गया है।

 

वही पूरे मामले में अब प्रसाशनिक अधिकारी जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई की बात कह रहे हैं, लेकिन कहीं ना कही इस तरह की खाद्यान्न सामग्री बच्चों को देना एक बड़ी लापरवाही है।