एसपी सचिन शर्मा की अन्ना हजारे ने की प्रशंसा, कहा- ये एक अनुकरणीय और सराहनीय योजना है

छतरपुर, संजय अवस्थी

प्रदेश में एमपी पुलिस का चेहरा कानून व्यवस्था बनाने में दिखाई देता है ,लेकिन छतरपुर की पुलिस की एक अनोखी पहल चर्चा का विषय बनी है और अब इस संकल्प योजना की अच्छाइयों की गूंज पूरे देश मे फैल रही है, तभी तो देश के जाने माने समाजसेवी अन्ना हजारे को जन पुलिस के इस नेक कार्य की जानकारी लगी तो वो अपने आपको रोक नहीं पाए और छतरपुर एसपी की इस नेक मुहिं की जमकर तारीफ की।

दरअसल, छतरपुर पुलिस बुजुर्गों के लिये संकल्प योजना चला रही है , इस योजना में जिले के तीन हजार ऐसे बुजुर्गों की पहचान की जा रही  हैं, जिनके बच्चे घर से बाहर है और बुजुर्ग घर पर अकेले रहते है। इस योजाना में उनके लिए एसपी सचिन शर्मा ने एक मोबाइल नम्बर जारी किया है, जिस नंबर से वह बुजुर्ग अपनी किसी भी जरूरत को पुलिस को बता सकते है ,उससे पुलिस के जवान या फिर स्वंय एस पी खुद मदद देने उसके घर पहुंच जाते है। उन्होंने यह कभी नहीं सोचा होगा कि उनके घर पर एसपी कोरोना काल में सेनेटाइजर ,मास्क ,जूस लेकर पहुंच जाएंगे।

छतरपुर के फूलन देवी मंदिर के पास रहने वाली रामकली के घर देखने को मिला ,जहां बुजुर्ग रामकली अपनी टूटी फूटी झोपडी मे रह रही थी और स्वंय एसपी उसे यह सामान देने पहुंच गये ,ऐसा ही रोज होता है ,रोजाना कॉल आने पर पुलिस किसी के घर राशन पहुंचाने या फिर किसी बुजुर्ग का पंखा बिगडने पर उसे पुलिस वाले ठीक करवा रहे है ।

इस योजाना को चलाने वाले एसपी मानते है कि पुलिस का एक चेहरा डंडा लेकर कानून का पालन करवाना है,लेकिन हम इस चेहरे को बदल रहे है। वह पुलिस के जवान संकल्प योजाना के तहत बुजुर्गों की मदद कर उनसे जुडने की कोशिश में इस योजाना को चला रहे है। दूसरी ओर इस योजाना मे लगे पुलिस अधिकारी भी इस योजाना में अपना योगदान दे रहे है ,जिले के अलग अलग थानों के पुलिस अधिकारी चिन्हित बृद्ध जनों से मिलकर उनकी हाल खबर लेते है और उन्हें मदद भी करते है, वही पुलिस की इस योजाना मे बुजुर्ग भी पुलिस द्वारा मदद देने से खुश है।

वही इस संकल्प योजना व एसपी छतरपुर सचिन शर्मा की तारीफ देश के प्रसिद्ध समाजसेवी अन्ना हजारे ने भी की है उन्होंने एक वीडियो जारी कर इस योजना को  बताया है।