आगरा से हाईजैक बस के यात्री छतरपुर पहुंचे, पूछताछ के बाद पुलिस ने सबको उनके घर भेजा

छतरपुर, संजय अवस्थी

गुरूग्राम (gurugram) से आ रही यात्री बस के आगरा (agra) के पास हाईजैक (bus hijack) होने की खबर ने आज पुलिस प्रशासन के छक्के उड़ा दिए। आगरा से हाईजैक की गई कल्पना ट्रैवल्स की बस उत्तर प्रदेश के इटावा के बलरई थाना क्षेत्र के लखेरा कुआं के पास एक ढाबे पर खड़ी पाई गई और सारे यात्री भी सुरक्षित हैं। लेकिन इस दौरान छतरपुर (chhatarpur) पुलिस चकरघिन्नी बनी रही।

दरअसल कल्पना ट्रेवल्स की बस के स्टाफ को हाईजैक करने वालों ने उतार दिया था और बस के यात्रियो को लेकर फरार हो गये थे। इस मामले में जब यूपी पुलिस ने छतरपुर पुलिस की मदद मांगी तो एसपी सचिन शर्मा स्वयं दल बल के साथ नौगांव पहुंच गये और झांसी की ओर से आ रही बसों की चैकिंग शुरू कर दी। पुलिस को हाईजैक की हुई बस तो नही मिली, लेकिन उस बस के यात्री दूसरी बस से पलटी होकर नौगांव पहुंच गए। इसके बाद पुलिस ने सभी यात्रियों को नीचे उतार लिया और थाने ले जाकर एसपी ने स्वयं उनसे पूछताछ की। इस बस में छतरपुर और पन्ना के 35 यात्री थे, एसपी का कहना है यह पूरा मामला फाइनेंस कंपनी से जुड़ा है और सभी यात्री सकुशल हैं तथा उन्हें उनके घरो की ओर रवाना कर दिया गया है।

ये है पूरा मामला
मंगलवार शाम को गुरुग्राम से मध्यप्रदेश के पन्ना में अमानगंज के लिए कल्पना ट्रेवल्स की बस निकली थी। रात 10.30 बजे बस दक्षिणी बाइपास के रायभा टोल प्लाजा के पास पहुंची। वहां उन्हें दो एसयूवी गाड़ी में सवार आठ-नौ युवक मिले। उन्होंने प्लाजा पर ही खुद को फाइनेंसकर्मी बताकर बस को रोक लिया। चालक से बस से नीचे उतरने को कह रहे थे, लेकिन चालक वहां से बस को लेकर आगे चल दिया। इसके बाद रात सवा दो बजे UP 75 M 3516 नंबर की बस ने जैसे ही इटावा टोल क्रॉस किया, पीछे से आए कुछ लोगों ने उसे रोक लिया। इसके बाद उन्होंने यात्रियों से खुद को फाइनेंस कर्मी बताया, उन्होंने बस और परिचालक को खाना खिलाया और दोनों को 300-300 रुपये भी दिए और उन्हें छोड़ दिया।बदमाशों ने बस को हाईजैक कर ड्राइवर व कंडक्टर को उतार दिया। बाद में जानकारी मिली कि यात्रियों को भी अन्य बस में शिफ्ट कर दिया गया है।