भाजपा की बैठक में जमकर विवाद, कार्यकर्ताओं में हाथापाई, गाली-गलौज

छिंदवाड़ा, विनय जोशी
भारतीय जनता पार्टी में सत्ता और संगठन में वर्चस्व की जो लड़ाई शुरू हुई है। वह गुरुवार को खुलकर सामने आ गई। परासिया में पार्टी की जिला अध्यक्ष विवेक बंटी साहू ने जब भाजपा कार्यालय में बैठक शुरू की तो गुटबाजी में बटे कार्यकर्ता आरोप प्रत्यारोप लगाते हुए आपस में उलझ गए। नौबत गाली गलौज हाथापाई एवं धक्का-मुक्की तक पहुंच गई। इसके पहले कि विवाद और अधिक बढे जिला अध्यक्ष ने परिस्थितियों को देखते हुए पार्टी के पदाधिकारियों सहित सभी कार्यकर्ताओं को कार्यालय से बाहर निकाल दिया।

भाजपा के जिला अध्यक्ष गुरुवार को परासिया बैठक लेने आए थे भाजपा कार्यालय में करीब 200 कार्यकर्ता उपस्थित हुए। चूँकि पिछले कुछ दिनों से पार्टी के कुछ मामलों को लेकर भाजपा जिला अध्यक्ष बंटी साहू और परासिया के पूर्व विधायक ताराचंद बावरिया के बीच आपसी मनमुटाव होने का मामला गरमाया हुआ है। चूँकि पूर्व में परासिया विधानसभा क्षेत्र में पूर्व विधायक बावरिया का पूरा वर्चस्व रहा है। लेकिन विवेक बंटी साहू के भाजपा जिला अध्यक्ष बनने के बाद उनका हस्तक्षेप कई मामलों में बढा है। शायद इसी वजह से सत्ता और संगठन में वर्चस्व की लड़ाई शुरू हुई है और संगठन दो फाड़ो में बट गई।

परासिया में दो बार विधायक रहे ताराचंद बावरिया सबसे कद्दावर नेता माने जाते हैं और भाजपा कार्यालय में उन्हीं का वर्चस्व है। कहा जाता है कि कार्यकर्ताओं की समस्या को सुलझाने के लिए जिलाध्यक्ष के द्वारा आज बैठक लेकर जो नेतृत्व की शुरुआत की है। यह बात पूर्व विधायक को अखरने वाली है। सवाल यह उठता है कि आखिर फिर वह क्या करेंगे। जिलाध्यक्ष के परासिया में सीधे हस्तक्षेप से पूर्व विधायक के कद को कम करने की बात कही जा रही है। शायद इसी वजह से गुटबाजी बढी है। कांग्रेस से जुड़े हुए कुछ लोग हाल ही में भाजपा में शामिल हुए हैं। भाजपा जिला अध्यक्ष के द्वारा उन्हें पद भी दिया गया है। भाजपा की बैठक में विवाद इसी बात से शुरू हुआ।

पूर्व विधायक के समर्थकों ने यह बात उठाई की पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं से पूछे बिना कांग्रेस से भाजपा में आए लोगों को सीधे पद और सम्मान दिया जा रहा है। जबकि ऐसे लोग अवैध धंधों में लिप्त हैं और अपने स्वार्थ के कारण आए हैं। जिन्हें पूरा संरक्षण जिला अध्यक्ष के द्वारा मिल रहा है। इसी बात को लेकर बंटी साहू के समर्थक भी भड़क गए और दोनों पक्षों में जमकर गाली-गलौज हुई। एक दूसरे को धक्का-मुक्की करते हुए हाथापाई भी की गई।

भाजपा की बैठक में कार्यकर्ताओं के बीच गुटबाजी को लेकर हुए विवाद के बारे में जिला अध्यक्ष विवेक बंटी साहू का कहना था कि पार्टी में सभी कार्यकर्ता एकजुट है। बैठक के दौरान किसी प्रकार का विवाद नहीं हुआ है। जिलाध्यक्ष ने बताया कि प्रदेश संगठन ने उन्हें 3 विधानसभा क्षेत्र में प्रत्येक माह 2 दिन के लिए बैठक लेकर कार्यकर्ताओं की समस्या को हल करने के बारे में कहा है। जिला अध्यक्ष का कहना था कि परासिया में कांग्रेसी विधायक के निष्क्रिय होने के कारण प्रदेश सरकार के द्वारा चलाई जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जनता एवं कार्यकर्ताओं को नहीं मिल रहा है। जिसके लिए वे कार्यकर्ताओं से चर्चा करने के लिए परासिया आए थे।