शर्मनाक: पुलिसकर्मियों का अंतिम संस्कार भी नही हुआ और अधिकारियों ने कर डाली पार्टी, जमकर थिरके

before-the-funeral-of-the-policemen-the-superintendent-of-police-celebrated-the-party

छिंदवाड़ा।

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में बुधवार सुबह को पातालेश्वर क्षेत्र स्थित मोक्षधाम के पास एसएएफ की बस की चपेट में आने से एक एसआई और एक प्रधान आरक्षक की मौके पर मौत हो गई थी और आज  गुरुवार को दोनों का अंतिम संस्कार होना है, अभी इस घटना को चौबीस घंटे भी नही बीते कि पुलिस अधिकारियों ने देर शाम पार्टी कर डाली और जमकर जश्न मनाया। साथ ही पार्टी में अधिकारी गाना गाते और झूमते हुए भी नजर आए। हैरानी की बात तो ये है कि इस पार्टी में जिला प्रशासन के आला अफसर भी मौजूद थे। इस घटनाक्रम के कुछ फोटो और वीडियो सामने आए है, जिसके बाद से ही पुलिस प्रशासन पर सवाल खड़े होने लगे है। वही अधिकारियों ने चुप्पी साध रखी है।

दरअसल, बुधवार को  छिंदवाड़ा एसएएफ बटालियन से  शव यात्रा पुलिस वाहन में पातालेश्वर क्षेत्र स्थित मोक्षधाम के पास पहुंची थी। पदस्थ एसआई कमल बारासिया की पत्नी की शव यात्रा बटालियन परिसर से मोक्षधाम जा रही थी। शव रथ के पीछे एसएएफ के जवान अपने वाहनों पर थे। उनके पीछे बटालियन की खाली बस चल रही थी। तभी ढलान पर ब्रेक फेल होने से बस एक बाइक पर चढ़ गई। जिससे बाइक चला रहे प्रधान आरक्षक उमाशंकर बघेल(46) पुत्र लक्ष्मण सिंह बघेल और पीछे बैठे एसआई सतपाल सिंह बघेल(48) पुत्र भगवान सिंह बघेल की मौके पर मौत हो गई।  दोनों के शव उनके गांव ले जाए गए हैं। जहां गुरुवार को अंतिम संस्कार होगा। इस घटना के बाद जहां जिले भर में शोक लहर है और पुलिस महकमें में भी सदमे का माहौल है, और उधर बुधवार शाम को ही जिला पुलिस अधीक्षक मनोज राय ने एक पार्टी का आयोजन कर डाला। देर शाम शुरू हुई यह पार्टी रात तक चली।

इसमें न केवल फिल्मी गानों पर पुलिस अधिकारी थिरकते नजर आए बल्कि उन्होंने गाना भी गाया।अफसर देर रात झूमते और गाते नजर आए।हैरानी की बात तो ये है कि शर्मनाक आयोजन में बड़े स्तर पर भोजन का प्रबंध भी किया गया था। जहां पुलिसकर्मियों को परिवार को सांत्वना देना था वहा वे पार्टी करते हुए नजर आए। ऐसे में यह हरकत पुलिस के अमानवीय चेहरे को प्रदर्शित करती है।हालांकि अभी तक इस मामले में किसी भी अधिकारी का बयान सामने नही आया है, लेकिन फोटो और वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासन पर सवाल खड़े हो रहे है।