ना जय हिंद ना भारत मां के नारों से वास्ता, भारी पड़ी कमलनाथ के प्रति आस्था

छिंदवाड़ा, विनय जोशी। छिंदवाड़ा जिले में स्वतंत्रता दिवस समारोह में अजीबोगरीब नजारा दिखाई दिया। यहां झंडा वंदन के बाद न भारत माता की जय के नारे लगे ना जय हिंद से आकाश गुंजायमान हुआ, बल्कि कमलनाथ (kamalnath) जिंदाबाद के नारे लगाए जाने लगे। बीजेपी ने इसे लेकर कांग्रेस को कटघरे में खड़ा किया है।

तृणमूल कांग्रेस की हुई सुष्मिता देव, मंगलवार को दिल्ली में करेंगी मीडिया से बात

आजादी की 75 वीं वर्षगांठ पर कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय छिंदवाड़ा में भी झंडा वंदन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि थे कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ। साथ में उनके सांसद बेटे नकुलनाथ भी थे और कांग्रेस के कई पदाधिकारी भी। कमलनाथ ने जैसे ही झंडा फहराया, बजाय भारत माता की जय या जय हिंद के नारे लगने के बजाय कमलनाथ जिंदाबाद के नारे लगने लगे। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में इस कदर जोश था कि उन्होंने कमलनाथ जिंदाबाद के साथ साथ जय-जय कमलनाथ के नारे भी लगा दिए लेकिन भारत माता या भारत के नारे नहीं लगाये। बीजेपी ने छिंदवाड़ा डीसीसी में हुए इस वाकये पर कांग्रेस को घेरा है। प्रदेश प्रवक्ता दुर्गेश केसवानी का कहना है कि “यह कोई नई बात नहीं है। दरअसल कांग्रेस हमेशा देश से ज्यादा व्यक्तिवाद को प्राथमिकता देती आई है और गांधी-नेहरू परिवार के प्रति कांग्रेस की आसक्ति जगजाहिर है और छिंदवाड़ा तो कमलनाथ के लिए एक अलग राज्य जैसा ही है।” केसवानी ने यह भी आरोप लगाया है कि “छिंदवाड़ा में डेढ़ साल का कमलनाथ सरकार का कार्यकाल उठाकर देख लीजिए। किस तरह से पूरे प्रदेश से सौतेला व्यवहार कर छिंदवाड़ा को अलग सहुलियत उपलब्ध करने का कार्य कमलनाथ ने किया। लेकिन यह तो हद है और राष्ट्रीय पर्व के दिन व्यक्ति विशेष के नारे लगाकर कांग्रेसियों ने अब यह भी साबित कर दिया है कि वे देश से ज्यादा व्यक्ति विशेष को प्राथमिकता देते हैं। अब ऐसे लोगों के हाथों में देश कैसे सुरक्षित रहेगा यह एक सोचने वाली बात है।”