छिंदवाड़ा में भारतीय मजदूर संघ और एटक यूनियन का विरोध-प्रदर्शन, महाप्रबंधन को सौंपा ज्ञापन

भारतीय मजदूर संघ और एटक यूनियन ने अपने-अपने तरीके से केंद्र सरकार और कोल मंत्रालय का विरोध किया और ज्ञापन सौंपा।

छिंदवाड़ा, विनय जोशी। छिंदवाड़ा (Chhindwara) में वेस्टर्न कोलफील्ड्स (Western Coalfields) पेंच क्षेत्र के महाप्रबंधक कायार्लय में शुक्रवार को ज्ञापन का दौर रहा। भारतीय मजदूर संघ और एटक यूनियन ने अपने-अपने तरीके से केंद्र सरकार और कोल मंत्रालय का विरोध किया और ज्ञापन सौंपा।

यह भी पढ़ें…Ashoknagar : खराब फसल की जगह बाढ़ के मुआवजे का निरीक्षण करने पहुंची एडिशनल कमिश्नर, किसानों में मायूसी

भारत सरकार के कोल इंडिया लिमिटेड (Coal India) की अनुषंगिक कंपनी सीएमपीडीआई का 10 प्रतिशत विनिवेश शेयर को केंद्र सरकार द्वारा बेचने के विरोध में आज एटक यूनियन ने रैली निकाल कर पेंच महा प्रबंधन को नारे बजी के साथ ज्ञापन दिया। तो वहीं भारतीय मजदूर यूनियन ने महा प्रबंधन कार्यलय के सामने धरना प्रदर्शन करते हुए ज्ञापन दिया।

एटक यूनियन के अध्यक्ष ने रामकिरात यादव बताया कि केंद्र सरकार, कुछ पूंजी पतियों को लाभ पहुंचाने के लिए ये कदम उठा रही है कोल इंडिया की सबसे महत्वपूर्ण या यूं कहें कि कोल इंडिया का मस्तिष्क CMPDI (Central Mine Planning and Design Institute) के 10 प्रतिशत शेयर बेचकर उसे पूंजी पतियों के हाथों सौंप रही है। भारतीय मजदूर संघ अध्यक्ष संजय सिंग ने कहा कि भारतीय मजदूर संघ ने भी इस का विरोध करते हुए लगतार तीन दिनों से खदानों के सामने गेट मीटिंग कर आज महाप्रबंधन कार्यलय के सामने धरना प्रदर्शन किया रैली के साथ जाकर महाप्रबंधन को ज्ञापन दिया।

यह भी पढ़ें… नवरात्रि में एक तरफ देवी पूजा, वहीं धार में महिला को डायन बताया, निर्वस्त्र कर पीटा