दतिया, सत्येन्द्र रावत। दतिया होमगार्ड की आपदा प्रबंधन टीम द्वारा आग, बाढ़, भूकंप एवं आतंकी हमलों से बचाव हेतु जागरूकता एवं प्रशिक्षण के संबंध में सुबह 11  बजे उनाव शाला स्थित स्वामी महाराज कॉलेज दतिया में एक दिवसीय सिविल डिफेंस वालंटियर कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें कार्यशाला की अध्यक्षता डीआईजी एसडीईआरएफ मध्य प्रदेश राजेश शर्मा द्वारा की गई। मुख्य अतिथि के रूप में पुलिस अधीक्षक दतिया अमन सिंह विशिष्ट अतिथि के रूप में डिवीजनल कमांडेंट ग्वालियर संभाग संगीता शाक्य उपस्थित थे।

कार्यक्रम का आयोजन जिला कमांडेंट होमगार्ड दतिया आरडी सिंह के नेतृत्व में आयोजित किया गया। कार्यशाला में 100  से अधिक प्रतिभागियों ने प्रतिभागिता की। सेल्फ डिफेंस वालेंटियर कार्यशाला को संबोधित करते हुए डीआईजी एसडीई आरएफ़ मध्यप्रदेश राजेश शर्मा ने कहा कि वॉलेंटियर का ये कर्तव्य है  कि आपदा के समय लिए गए प्रशिक्षण का उपयोग जरूरतमंद लोगों की मदद करने में करें। यदि मुसीबत में हम किसी के जरा भी काम आ गए तो उनसे मिलने वाली दुआएं हमें बड़ा सुकून देती है। इसलिए मानवीय मूल्य विकसित कर धर्म जाती मजहब सम्प्रदाय से परे हमे लोगों की मदद करनी चाहिए।

उन्होंने स्काउट गाइड के बच्चों से आह्वान किया कि आपके द्वारा किये गए सेवाकार्य के दौरान विषम परिस्थितियों  में आपदा प्रबन्धन के सीखे गए गुर का उपयोग करे, तो हमारा कार्यशाला का लक्ष्य पूरा होगा। उन्होंने रतनगढ़ में स्काउट गाइड के सेवाकार्यो की प्रशंसा की।  कार्यशाला आपदा प्रबंधन के सभी विषयों पर विस्तृत रूप से जानकारी सहित उपकरणों के साथ उपस्थित होकर टीम द्वारा मॉकड्रिल आयोजित किया गया। साथ ही  टीम द्वारा आपदा प्रबंधन में प्रयुक्त उपकरणों की प्रदर्शनी का भी आयोजन  किया गया। सभी प्रतिभागियों को होमगार्ड द्वारा  टी शर्ट  एवं ₹100 की राशि प्रदान की गई।

कार्यशाला में पुलिस अधीक्षक दतिया अमन सिंह राठौर, डीआईजी एसडीईआरएफ मध्य प्रदेश  राजेश शर्मा, डिवीजनल कमांडेंट ग्वालियर संभाग श्रीमती संगीता शाक्य, जिला कमांडेंट दतिया  आरडी सिंह, कंपनी कमांडर  उमेश कुमार शर्मा, प्लाटून कमांडर दतिया आशीष ऋषिस्वर ,सुश्री निकिता कटारे,जिला सचिव राजेश कतरोलिया, डीटीसी स्काउट महेंद्र नारायण शर्मा, डीटीसी गाइड लक्ष्मी राय, अरविंद सक्सेना,किरण ठाकुर ,अर्चना जाटव ,विपिन वौद्ध सहित वडी संख्या में प्रतिभागी उपस्थित थे।