आर्थिक तंगी के चलते सिविल इंजीनियर ने बेटा-बेटी का कटर से गला रेंता, पत्नी के साथ पिया जहर, 2 की मौत

राजधानी भोपाल के मिसरोद से दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है जहां आर्थिक तंगी से परेशान एक परिवार ने आत्महत्या का कदम उठाया। जाने पूरा मामला

भोपाल, हरप्रीत कौर रीन। राजधानी भोपाल में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है जहां आर्थिक तंगी और बेरोजगारी से जूझ रहे सिविल इंजीनियर ने अपने पूरे परिवार को खत्म करने की कोशिश की। मामला मिसरोद थाना क्षेत्र का है जहां रहने वाले सिविल इंजीनियर ने पहले अपने बेटे और बेटी का गला टाइल्स कटर से काटा और बाद में पत्नी के साथ ज़हर पी लिया। जानकारी के मुताबिक इंजीनियर और बेटे की मौत हो गई है पर बेटी और पत्नी की हालत गंभीर बताई जा रही है जिसके चलते उन्हें हमीदिया अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

ये भी देखें- MP News: जनता हित में CM Shivraj की बड़ी घोषणाएं, कहा- जल्द पूरे होंगे ये काम

मिली जानकारी के अनुसार मिसरोद की सहारा सोसायटी में रह रहे सिविल इंजीनियर रवि ठाकरे नौकरी चले जाने से पिछले काफी समय से  परेशान था। कोरोन काल में नौकरी जाने की वजह से रवि को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा था। नौकरी न होने की वजह से मकान की किश्त, बच्चों की पढ़ाई और घर खर्च तक के लिए पैसे जुटाने में पिछले काफी समय से परिवार को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था। बताया जा रहा है इस सब के चलते रवि डिप्रेशन में चला गया था।परिवार का पालन पोषण न कर पाने की वजह से यह भयानक कदम उठाते हुए रवि ने बीती रात घर में रखी कटर मशीन से पहले कमरे में सो रहे  बेटे चिराग और फिर बेटी गुंजन का गला काट कर उनकी हत्या करने का प्रयास किया।पर बेटी का गला काटते समय मशीन खराब होने की वजह से उसकी मौत नहीं हुई और उसे अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती कराया गया। हत्या के प्रयास के बाद पति पत्नी ने ज़हर खाकर अपनी जिंदगी खत्म करना चाही, जिसके बाद रवि की मौत हो गई लेकिन रंजना की सांसें चल रही थीं। रंजना को बेटी गुंजन के साथ हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये भी देखें- अच्छी खबर: रिक्शा चालक की सजगता से बची मासूम की जिंदगी, पुलिस ने किया सम्मानित