महाराष्ट्र के इन्वेस्टर्स को CM शिवराज ने MP में इन्वेस्ट करने का दिया न्योता, सुविधाओं की दी जानकारी

मुख्यमंत्री ने इन्वेस्टर्स को MP में निवेश करने का न्योता दिया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) इस समय पुणे में हैं। वह यहां पर इंटरेक्टिव सेशन ऑन इन्वेस्टमेंट अपॉर्चुनिटी इन मध्य प्रदेश कार्यक्रम में शामिल होने के लिए गए हुए हैं। सीएम ने यहां पर कई उद्योगपतियों से मुलाकात कर एमपी में निवेश (Invest In MP) करने के बारे में बातचीत की है। उन्होंने उद्योगपतियों को अगले साल इंदौर में होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में आने के लिए न्योता भी दिया है। यहां अपने उद्बोधन के दौरान सीएम शिवराज ने साल 2016 से 2027 तक प्रदेश की अर्थव्यवस्था को 550 बिलियन डॉलर बनाने के लक्ष्य के रोडमैप के बारे में भी जानकारी दी।

 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इन्वेस्टर्स को जानकारी देते हुए बताया कि देश में मध्य प्रदेश की आर्थिक विकास दर सबसे ज्यादा है। सकल घरेलू उत्पाद में देश को योगदान करने वाले टॉप 5 राज्यों में भी एमपी शामिल है। देश की अर्थव्यवस्था में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर अपना 8% योगदान देता है, जिसे अगले एक दशक में 15 फीसदी तक पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। प्रदेश में फार्मास्यूटिकल सेक्टर को भी बढ़ावा मिल रहा है। उज्जैन में भारत सरकार ने मेडिकल डिवाइस पार्क के निर्माण की मंजूरी भी इसी को देखते हुए दी है। मध्यप्रदेश का शरबती गेहूं पूरे देश में फेमस है और अब देश के अलावा पूरी दुनिया में इसका निर्यात किया जा रहा है। सीएम ने 2022-23 के आंकड़े बताते हुए कहा की लगभग 43.50 लाख मीट्रिक टन गेंहू का निर्यात हुआ है, जो पिछले साल से 116.7 फीसदी ज्यादा है।

Must Read- कॉलोनाइजर ने कृषि भूमि पर काट दी अवैध कॉलोनी, नगर पालिका ने दर्ज कराई FIR

ऑटोमोबाइल सेक्टर के बारे में बात करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि इसके लिए राज्य में 50 ओईएम और 200 से ज्यादा ऑटो कंपोनेंट निर्माता उपस्थित हैं। पीथमपुर में 2000 हेक्टेयर में स्थापित ऑटो क्लस्टर में 25000 लोग काम कर रहे हैं। यहां पर मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक पार्क की स्थापना भी की जाने वाली है। मध्य प्रदेश एकमात्र ऐसा राज्य है जहां पर ऑटो शो आयोजित हुआ है। सीएम शिवराज ने यह भी बताया कि आने वाला भविष्य ई व्हीकल का है इसी को ध्यान में रखते हुए इवी पाक बनाने के लिए 300 एकड़ जमीन भी आरक्षित की गई है।

 

प्रदेश में टैक्सटाइल इंडस्ट्री का विकास होने की संभावनाओं पर बात करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कपास के उत्पादन में मध्य प्रदेश को देश भर में पांचवा स्थान प्राप्त है। हमारे पास पर्याप्त मैन पावर मौजूद है। प्रदेश में टैक्सटाइल पार्क स्वीकृत कराने के लिए प्रस्ताव भी भेजा गया है। इस क्षेत्र में लगभग 3513 करोड रुपए निवेश किए जा रहे हैं। मध्यप्रदेश में चंदेरी सिल्क और पारंपरिक वस्त्रों को खूबसूरती से तैयार किया जाता है जो ना सिर्फ प्रदेश बल्कि मिलान फैशन वीक और पेरिस हॉट कुटूर 2021 में भी पेश हो चुके हैं।

 

Must Read- रतलाम के महालक्ष्मी मंदिर में शुरू हुई सजावट, धनतेरस से भाईदूज तक होंगे मनोरम दर्शन

मुख्यमंत्री चौहान ने इंदौर-भोपाल के बीच बनाए जा रहे ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा कि यह देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। इसके साथ मेगा औद्योगिक क्षेत्र की स्थापना भी हो रही है, जिसे 15 हजार एकड़ में विकसित किया जाएगा। इसके अलावा एक स्टेट को दूसरे स्टेट से अच्छी तरह से कनेक्ट करवाया जा सके इसके लिए अटल और नर्मदा एक्सप्रेस वे का निर्माण भी किया जा रहा है। सीएम ने बताया कि प्रदेश में पर्यटन की संभावनाएं भी बहुत अच्छी है। राज्य में 10 नेशनल पार्क, 6 टाइगर रिजर्व, 25 अभयारण्य, 3 यूनेस्को वर्ल्ड हेरीटेज साइट और 2 ज्योतिर्लिंग मौजूद हैं। हाल ही में महाकाल लोक का लोकार्पण भी किया गया है इसके अलावा 70 साल बाद मध्यप्रदेश में चीतों की वापसी भी हो गई है। इस तरह से पर्यटन की दृष्टि से मध्यप्रदेश एक समृद्ध राज्य है।

 

साल 2023 में 11 और 12 जनवरी को आयोजित किए जा रहे ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में इन्वेस्टर्स को आमंत्रित करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि निवेश के लिए मध्यप्रदेश का वातावरण बिल्कुल उपयुक्त है। उद्योगों की स्थापना के लिए 1.22 लाख एकड़ का लैंड बैंक उपलब्ध है जो किसी भी इन्वेस्टर को एक महीने में उपलब्ध करवाया जा सकता है. इंडस्ट्री के लिए अलग से पानी रिजर्व करके रखा गया है और 24 घंटे बिजली की सुविधा उपलब्ध है। आप लोग प्रदेश में घूमिए, पसंद आए तो यहां इन्वेस्ट करें।