सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दिया MP में उद्योगपतियों को निवेश का न्योता, कहा- यहां निवेश कीजिए और लाभ कमाईये

मुख्यमंत्री शिवराज ने शनिवार को आयोजित 'होरेसिस इंडिया मीटिंग 2021’ के वर्चुअल संबोधन मे देश के तमाम उद्योगपतियों को मध्यप्रदेश में उद्योग लगाने के लिए आमंत्रित किया।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देशभर के उद्योगपतियों को मध्यप्रदेश में उद्योग लगाने के लिए आमंत्रित किया है। मुख्यमंत्री शिवराज ने ‘होरेसिस इंडिया मीटिंग 2021’ के वर्चुअल संबोधन में कहा कि मध्यप्रदेश भारत का दिल है और हम दिलवाले हैं। उद्योग लगाने के लिए प्रदेश सबसे बेहतर है। यहां खनिज संपदा में अपार संभावनाएं हैं, तो सौर ऊर्जा में बड़ी सफलता पाई जा सकती है। यहां साल के 200 दिन सूरज चमकता है। यहां जो आता है यहीं का होकर रह जाता है। होरेसिस प्रबुद्धजनों का स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय मंच है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में निवेश के लिए सभी सुविधाएं एवं अनुकूल वातावरण है। हर क्षेत्र मध्यप्रदेश निवेश के लिये अनुकूल है, इसलिये यहां आईये और मध्यप्रदेश में निवेश कीजीए। खुद भी लाभ कमाईए और प्रदेश के लोगों को भी रोजगार मौका दीजिए।

ये भी देखें- Road Accident: ऑटो-कार की सीधी भिड़ंत, दो वृद्ध महिला सहित 4 की मौत, 1 गंभीर

इस सत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी निवेश नीति उद्योग हितैषी है। हम निवेशकों की आवश्यकताओं का पूरा ध्यान रखते हैं तथा उन्हें उदारतापूर्वक पैकेज देते हैं। प्रदेश की उपलब्धियां गिनाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि क्षेत्र में प्रदेश भारत में नंबर- वन है। यहां फार्मास्युटिकल क्षेत्र में निवेश की बड़ी संभावना है। पांच बार कृषि कर्मण अवार्ड मिला है। कृषि विकास दर 20 फीसद के आस-पास रहती है। यहां खनिज आधारित उद्योग अधिक लगाए जाने चाहिए। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में भी प्रदेश ने नाम कमाया है। सीएम शिवराज ने प्रदेश के तमाम क्षेत्रों की खूबियां गिनाते हुए मध्यप्रदेश में निवेश करने का आग्रह किया है। मध्यप्रदेश में खनिज संपदा, सौर ऊर्जा, टेक्स्टाईल- गारमेंट, ऑटोमोबाइल- आईटी, टॉय क्लस्टर, पर्यटन रिफॉर्म, ईएसजी पैमाना जैसे क्षेत्रों की तारीफ करते हुए और अन्य आत्मनिर्भर कांसेप्ट के लिये निवेश करने का न्योता दिया है।

ये भी देखें- MP के पूर्व सांसद और विधायक को विशेष न्यायालय ने सुनाई सजा, लगाया जुर्माना, ये है मामला

सीएम ने गिनाई इन क्षेत्रों की खूबियां

उन्होंने कहा यहां टेक्सटाइल- गारमेंट क्षेत्र में भी बड़ी संभावनाएं हैं। ऑटोमोबाइल एवं आइटी क्षेत्र में काम किया जा सकता है। प्रदेश में 30 फीसद जंगल है। यहां बांस आधारित उद्योग तथा फर्नीचर निर्माण की गुंजाइश है। यहां खिलौना निर्माण समूह विकसित किया जा रहा है। मध्य प्रदेश औद्योगिक विकास के ईएसजी (एनवायर्नमेंट, सोशल रिस्पांसबिलिटी एंड गवर्नेंस) के पैमाने पर खरा उतरता है। यहां स्वच्छ पर्यावरण है, कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसबिलिटी के तहत अच्छा कार्य हो रहा है। प्रदेश में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। यह टाइगर स्टेट है। कभी-कभी तो सैलानियों को टाइगर से हैंडशेक का भी मौका मिल जाता है। यहां 11 राष्ट्रीय उद्यान और विश्व धरोहर के रूप में सांची, खजुराहो, भीमबैठका हैं। उन्होंने कहा कि सिंगापुर के सहयोग से ग्लोबल स्किल पार्क बन रहा है। सेंटोजा आइलैंड की तर्ज पर हनुवंतिया विकसित किया।