ग्वालियर,अतुल सक्सेना। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह (Chief Minister Shivraj Singh) की गौ संवर्धन (Cow culture) और गौ संरक्षण (Cow protection) को पलीता लगा रहे ग्वालियर नगर निगम के अफसरों की ग्वालियर कलेक्टर ने ना सिर्फ फटकार लगाई बल्कि एक ऐसा उदाहरण पेश किया जिसकी शहर में लोग चर्चा कर रहे हैं। नगर निगम की आदर्श गौशाला लाल टिपारा गौशाला (Lal Tipara Gaushala) में सर्दी में दम तोड़ती गायों की जानकारी होने के बाद भी नगर निगम कमिश्नर और उनके मातहत सोचते ही रह गए और कलेक्टर गायों को सर्दी से बचाने के लिए खुद एक ट्रक त्रिपाल लेकर पहुँच गए। इतना ही नहीं कलेक्टर की प्रेरणा से गायों के लिए गुड़ और अजवाइन का भी इंतजाम हो गया।

नगर निगम की आदर्श गौशाला लाल टिपारा गौशाला में नौ दिन में 239 गायों की मौत की खबर ने भले ही नगर निगम कमिश्नर संदीप माकिन (Municipal Corporation Commissioner Sandeep makin) और गौशाला की देखभाल करने वाले उनके मातहतों को विचलित नहीं किया हो लेकिन गायों की मौत ने कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ( Collector Kaushalendra Vikram Singh) और अन्य सरकारी अफसरों को इस खबर ने संजीदा कर दिया। एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ ने भी गायों की मौत को खबर को प्रमुखता से अपने पाठकों तक पहुंचाया था। गौरतलब है कि गौ सेवक पत्रकार आकाश सक्सेना ने लाल टिपारा गौशाला में 16 नवंबर से 24 नवंबर तक सर्दी से 239 गायों की मौत का आंकड़ा वायरल किया था। आंकड़ा वायरल होने के बाद जब कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह के पास पहुंचा और वे उसी रात गौशाला का निरीक्षण करने पहुँच गए। मालूम चला कि जहाँ बीमार और घायल गाय रखी जाती हैं वहाँ शेड नहीं हैं। कलेक्टर ने गौशाला प्रभारी और अन्य स्टाफ को त्रिपाल का इंतजाम करने के निर्देश दिया लेकिन जब चौबीस घंटे के बाद भी गौ माता को सर्दी से बचाने के इंतजाम नहीं हुए तो कलेक्टर खुद एक ट्रक ट्रिपाल लेकर गौशाला पहुँच गए। उन्होंने अपने हाथों से त्रिपाल को नीचे उतरवाया।

दरअसल कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने बीते रोज लाल टिपारा गौशाला का निरीक्षण कर गायों के लिए सर्दी से बचाव के लिए की जा रही व्यवस्थाओं को देखा और जब उन्हें लगा कि शेड खुला है जहां गायों का रहना संभब नहीं है तो उन्होंने तत्काल दो लाख रुपये की व्यवस्था रेड क्रॉस से कर त्रिपाल मंगाने के निर्देश दिए ।इसके साथ ही गौशाला में अलाव जलाने के लिए भी लकड़ी का इंतजाम करने के निर्देश दिए थे। जिसको लेकर आज गौशाला में एक ट्रक त्रिपाल आ गई है। मौके पर पहुंचकर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह एवं अपर कलेक्टर रिंकेश वैश ने गौशाला त्रिपाल हेतु दो लाख का चैक प्रदान किया।

गुड़ और अजवाइन भी मिला गायों को

इस अवसर पर पूर्व साडा अध्यक्ष श्री राकेश जादौन ने कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह से अपील की कि वह आम जनों से अपील करें की गौशाला में गायों को सर्दी से बचाने के लिए गुड व अजवाइन का सहयोग करें। जिसको लेकर कलेक्टर श्री सिंह ने सबसे पहले स्वयं की ओर से एक क्विंटल गुड़ देने की घोषणा की। उनके साथ ही अपर कलेक्टर रिंकेश वैश्य, नगर निगम उपायुक्त डॉ प्रदीप श्रीवास्तव एवं समाजसेवी राकेश नरवरिया ने भी अपनी ओर से एक-एक क्विंटल गुड़ व 4 किलो अजवाइन देने की घोषणा की। कलेक्टर श्री सिंह ने आश्वासन दिया कि वह आम जनों से भी अपील करेंगे कि गौशाला में गायों के रखरखाव एवं उन्हें सर्दी से बचाने में अपना सहयोग प्रदान करें। लोग कलेक्टर की इस पहल की प्रशंसा कर रहे हैं और कह रहे हैं कि यदि कलेक्टर साहब की तरह सब सोचने लग जाये तो गौमाता को मरने से बचाया जा सकता है।