आलूबंडा-चूना पर कलेक्टर ने लगाया बैन, जाने क्या है बैन लगाने की वजह

शहर की शांति के लिए खतरा बने आलूबंडा-चूना और झाँकडू को जबलपुर में बैन कर दिया है। सुनने में जरूर आपको अजीब लगेगा, पर यह हकीकत है।

जबलपुर, संदीप कुमार। शहर की शांति के लिए खतरा बने आलूबंडा-चूना और झाँकडू को जबलपुर (jabalpur) में बैन कर दिया है। सुनने में जरूर आपको अजीब लगेगा, पर यह हकीकत है। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा (Collector Karmveer Sharma) के द्वारा एसएसए के तहत की गई यह कार्रवाई सोशल मीडिया (social media) में चर्चा का विषय बनी हुई है। जबलपुर में अपराध करने वाले कुल पांच लोगों पर जिला बदर की कार्रवाई हुई है, जिनमें आलूबंडा, चूना, झंकाड़ू नाम के अजीब बदमाश है। यह नाम सोशल मीडिया में जमकर वायरल भी हो रहे है। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी कर्मवीर शर्मा ने गंभीर आपराधिक कृत्यों में लिप्त 5 व्यक्तियों के विरूद्ध राज्य सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्यवाही करते हुए प्रत्येक को 6 माह के लिए जिला बदर करने का आदेश पारित किया है।

कलेक्टर शर्मा ने संबंधितों के विरूद्ध जिला बदर की कार्यवाही पुलिस अधीक्षक जबलपुर से प्राप्त प्रस्ताव के आधार पर किया है। जिन व्यक्तियों के विरूद्ध 6 माह के लिए जिला बदर की कार्यवाही की गई है। उनमें भसीन आर्केड प्रगतिशील कालोनी थाना गोरखपुर निवासी शंकर गुलाटी, अंसारी नगर पानी की तलैया थाना गोहलपुर निवासी मोनू उर्फ मोइनुद्दीन उर्फ आलूबंडा और ब्लाक एफ 4 टेंडर-दो ब्रजमोहन नगर रामपुर थाना गोरखपुर निवासी संजू उर्फ संजय उर्फ चूना पटेल शामिल हैं। इसी प्रकार जिला दंडाधिकारी शर्मा ने मनीराम का बगीचा गोराबाजार थाना गोराबाजार निवासी करन मलिक और भूरी बाई का बगीचा गोराबाजार थाना गोराबाजार निवासी अभिषेक उर्फ झंकाड़ू यादव के विरूद्ध जिला बदर की कार्यवाही किया है। इन सभी पांच जिला बदर के आरोपियों पर जान से मारने की धमकी देना, अवैध हथियार रखने, जुआ-सट्टा खिलाने, गाली-गलौज, अवैध हथियार रखने सहित कई अन्य गंभीर अपराध विभिन्न पुलिस थाना में पंजीबद्ध हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here