भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

मध्यप्रदेश में सियासी हलचल लगातार जारी है। हालही में बीजेपी(bjp) द्वारा दावा किया गया है कि ग्वालियर-चंबल अंचल में भाजपा(bhartiye janta party) के तीन दिवसीय सदस्यता अभियान (Three Day Membership Campaign) के पहले दिन यानि शनिवार को अंचल के नौ विधानसभा क्षेत्रों ( 9 Assembly Constituencies)  )  के 12 हजार कांग्रेस कार्यकर्ताओं (congress workers) ने भाजपा की सदस्यता ली है। जिसको कांग्रेस (congress) ने झूठा करार करते हुए कहा है कि कांग्रेस पार्टी से एक भी व्यक्ति ने सदस्यता नहीं ली है।

कांग्रेस के पूर्व जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ( Former Public Relations Minister PC Sharma)  ने बयान देते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी से एक भी व्यक्ति नहीं है जिसने बीजेपी में सदस्यता ली हो, बीजेपी झूठे दावे ठोक रही हैं। आगे उन्होंने कहा कि भाजपा के कार्यक्रमों के लिए कोई नियम नहीं है। वहीं कोरोना वायरस का हवाला देते हुए गणेश उत्सव (ganesh utsav) नहीं मनाने दिया जा रहा।

वहीं कांग्रेस के नेताओं पर झूठे प्रकरण दर्ज किए जा रहे है, इसलिए हमारी द्वारा समीती बानाई गई है। भाजपा चाहे कुछ भी कर ले जनता सब जानती है और वो हमारा ही साथ देगी। आगामी होने वाले विधानसभा सभा अध्यक्ष-उपाध्यक्ष पर पीसी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस सही समय आने पर अपने पत्ते खोलेगी। बीजेपी ने अध्यक्ष पद के लिए अपना कैंडिडेट उतारा था यहि कराण ने हमने उपाध्यक्ष पद नहीं दिया है।

आगे पूर्व मंत्री ने कहा कि जो देश में कोरोना वायरस फैल रहा है और उसके फैलने का आरोप जमातियों पर लगाया जा रहा है उसके लिए इन्हें माफी मांगनी चाहिए। हालि में अयोध्या में हुए राममंदिर के भूमिपूजन को लेकर पूर्व मंत्री ने कहा कि राम मंदिर का मुद्दा कांग्रेस के पक्ष में है। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने ही खुलवाए थे दरवाजे।

पूर्व मंत्री ने राजधानी में बने बाढ़ जैसे हालातों को देखते हुए कहा कि कलियासोत डेम (Kaliyasot Dam) के गेट जरुर खोले गए, लेकिन इससे पहले कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किया गए है, जिसके कारण निचली बस्तीयों में पानी भरने की आशंका जताई जा रही है।वहीं पूर्व जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा पर पलटवार करते हुए भाजपा के पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता (Former BJP minister Umashankar Gupta) ने कहा कि कांग्रेस की जमीन खिसक चुकी है, उनके पास जमीन नहीं बची हैं इसलिए ऐसे बयान सामने आ रहे है। आगे उन्होंने कहा कि ग्वालियर चंबल संभाग के सभी कांग्रेस कार्यकर्ता अब सिंधिया के साथ हैं। दरअसल, कांग्रेस के पास कहने के लिए कुछ बचा नहीं है तभी ऐसी बेतुका बातें कर रही है।

वहीं भाजपा द्वारा किए गए चुनावी गाइडलाइन के उल्लंघन के आरोप को लेकर पूर्व मंत्री ने कहा कि अगर कांग्रेस को लगता है कि चुनावी गाइडलाइन का उल्लंघन हो रहा है तो वो चुनाव आयोग में शिकायत करें। बता दें कि भाजपा नेताओं का दावा है कि अगले दो दिन में अन्य विधानसभा क्षेत्रों के भी कई कांग्रेसी भाजपा में शामिल होंगे। विधानसभा उपचुनाव से पहले चलाए गए इस अभियान में सदस्यता लेने वाले कार्यकर्ताओं की सूची भाजपा प्रदेशाध्यक्ष को सौंपी गई।