नगरीय निकाय चुनाव: कांग्रेस का इन दिग्गजों से भरोसा उठा, नहीं सौंपी जिम्मेदारी

क्या पार्टी का इन नेताओं से भरोसा उठ गया है या फिर कुछ नेताओं के इशारे पर ग्वालियर चंबल संभाग के नेताओं को दरकिनार किया जा रहा है

कांग

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। विधानसभा उपचुनावों (Assembly by-elections) में बड़ी शिकस्त झेलने वाली कांग्रेस (Congress) अब नगरीय निकाय चुनाव (Urban body elections) पर फोकस कर रही है। पार्टी ने उप चुनावों की तैयारी शुरू करते हुए नगर निगमों ने लिए प्रभारी और सह प्रभारी नियुक्त कर दिये हैं लेकिन खास बात ये है कि इस सूची में ग्वालियर चंबल संभाग (Gwalior Chambal Division) के दिग्गज नेताओं पर पार्टी ने भरोसा नहीं जताया। इस सूची से पूर्व मंत्री और कद्दावर नेता डॉ गोविंद सिंह जैसों का नाम भी गायब है।

नगरीय निकाय चुनावों की तारीखों का एलान भले ही नहीं हुआ है लेकिन कांग्रेस ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी की जो सूची सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है उसमें प्रदेश की बारह नगर निगमों के लिए प्रभारी और सह प्रभारी के नाम हैं। इन नामों में मुरैना में प्रिय व्रत सिंह प्रभारी और श्रीमती रश्मि पंवार सह प्रभारी ,ग्वालियर में ब्रजेन्द्र सिंह राठौर प्रभारी और कलावती भूरिया सह प्रभारी,सागर पीसी शर्मा प्रभारी और मनीषा दुबे सह प्रभारी ,रीवा हर्ष यादव प्रभारी और श्रीमती जमना मरावी सह प्रभारी ,सतना तरुण भनोट प्रभारी और श्रीमती पद्मा शुक्ला सह प्रभारी ,जबलपुर सुश्री हिना कांवरे प्रभारी और श्रीमती सविता दीवान सह प्रभारी ,कटनी कमलेश्वर पटेल प्रभारी और पुष्पा बिसेन सह प्रभारी, छिंदवाड़ा सुखदेव पांसे प्रभारी और नेहा सिंह सह प्रभारी , भोपाल लखन घनघोरिया प्रभारी और श्रीमती शारदा पाठक सह प्रभारी ,देवास उमंग सिंघार प्रभारी और यास्मीन शेरानी सह प्रभारी ,इंदौर विजयलक्ष्मी साधो प्रभारी और श्रीमती विभा पटेल सह प्रभारी तथा बुरहानपुर नगर निगम के लिए सुरेंद्र बघेल को प्रभारी और छाया मोरे को सह प्रभारी बनाया गया है ।

ग्वालियर चम्बल साफ
इस सूची में ग्वालियर चम्बल अंचल के दिग्गज नेता गायब दिख रहे है । प्रदेश के सबसे वरिष्ठ विधायक और पूर्व सहकारिता मंत्री डॉ गोविंद सिंह (Dr Govind Singh),पूर्व मंत्री और मप्र कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष राम निवास रावत (Ram NIvas Ravat), एपेक्स बैंक के पूर्व प्रशासक और प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अशोक सिंह (Ashok Singh) जैसे चेहरों को सूची में कोई स्थान नही मिला।

रश्मि का नाम शामिल, वो खुद दावेदार

12 नगर निगमों के लिए जारी की गई प्रभारी और सह प्रभारियों क सूची में
ग्वालियर की तेजतर्रार नेत्री श्रीमती रश्मि पंवार (Rashmi Panvar)को जगह दी गई है उन्हें मुरैना का सह प्रभारी बनाया गया है जबकि खास बात ये है कि वे ग्वालियर नगर निगम में महापौर पद की प्रबल। दावेदार है। ग्वालियर दक्षिण विधानसभा से चुनाव लड़ चुकी रश्मि पंवार यूथ कांग्रेस के जरिये कांग्रेस में आईं है। वे यूथ कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष रह चुकी हैं। इस समय AICC की सदस्य हैं। इस बार ग्वालियर नगर निगम सामान्य महिला के लिए आरक्षित है इसलिए रश्मि पंवार का नाम ग्वालियर में तेजी से चल रहा है।

बहरहाल सोशल मीडिया पर जारी कांग्रेस की सूची से पूर्व मंत्री गोविंद सिंह, राम निवास रावत और वरिष्ठ नेता अशोक सिंह जैसे दिग्गजों के नाम गायब होने से सियासी गलियारों में ये चर्चा शुरू हो गई कि क्या पार्टी का इन नेताओं से भरोसा उठ गया है या फिर कुछ नेताओं के इशारे पर ग्वालियर चंबल संभाग के नेताओं को दरकिनार किया जा रहा है।