धार। मध्य प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव से पहले एक बार फिर विधायकों की खरदी फरोस्त का मामला गर्माने लगा है। वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व मंत्री दीपक जोशी द्वारा कांग्रेस नेताओं की तरफ से पार्टी में शामिल होने का ऑफर मिलने का दावा करने के बाद अब कांग्रेस विधायक ने भाजपा पर खरीद फरोस्त की कोशिश करने का आरोप लगाया है। शुक्रवार को धार जिले के मनावर विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक डॉ हीरालाल अलावा ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने दावा किया है कि भाजपा ने उन्हें खरीदने के लिए 100 करोड़ का ऑफर दिया था लेकिन मैं किसी भी कीमत पर बिकने वालों में से नहीं हूं। कांग्रेस विधायक के इस बयान के बाद राजनीतिक हलकों में एक बार फिर हार्स ट्रेंडिंग की चर्चाओं को जोर मिल गया है।

कांग्रेस विधायक हीरालाल अलावा ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा ने विधायकों को खरीद फरोख्त कर लोकतंत्र की हत्या करके प्रदेश में शिवराज की सरकार बनाई है। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि मुझे भी भाजपा ने 100 करोड़ का ऑफर दिया गया था। कई नेताओं के फोन मेरे पास आए लेकिन मैंने पैसे नहीं लिए और मैंने लोकतंत्र की हत्या नहीं की।

यह पहला मौका नहीं जब कांग्रेस नेता भाजपा पर इस तरह का आरोप लगा रहे हैं। इससे पहले भी जब सिंधिया समर्थक मंत्री और विधायकों ने बगावत की थी और राज्य में कमलनाथ सरकार अस्थिर हुई थी। उस दौरान भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भाजपा नेता और शिवराज सिंह चौहान और अन्य नेताओं पर कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि भाजपा राज्य सरकार को अस्थिर करने के लिए उनकी पार्टी के विधायकों को रिश्वत देने की कोशिश कर रही है। दिग्विजय सिंह ने दावा किया था कि शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के एक अन्य वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा 25-35 करोड़ रुपये देकर कांग्रेस के विधायकों को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं।