पेट्रोल और डीजल के दामों की बराबरी पर कांग्रेस का विरोध, केक काटकर मनाया जश्न

इंदौर/ आकाश धौलपुरे। इंदौर में कल जहां पूर्व केबिनेट मंत्री के नेतृत्व में कांग्रेस ने सडक़ पर सायकिल चलाकर पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी और समानता को लेकर प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था। वही दूसरी और ठेले पर दो पहिया वाहन रख ये जताया था कि अच्छे दिन आये ना आये लेकिन केंद्र की मोदी सरकार के कार्यकाल में ऐसे दिन जरूर आ गए जहां दामों में समानता आ गई है।

इधर, आज इंदौर में प्रदेश कांग्रेस के सचिव विवेक खंडेलवाल ने विरोध की बयांर में एक कदम आगे बढ़ाते हुए पेट्रोल पंप और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय का केक काट डाला। इसके पीछे की वजह सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे। दरअसल, कांग्रेस के इस अजीब कटाक्षरूपी विरोध की वजह वो बीते 70 साल है, जिसे बीजेपी हमेशा भुनाती रही है। वही कांग्रेस के प्रदेश सचिव विवेक खंडेलवाल ने रीगल पेट्रोल पंप पर किये विरोध प्रदर्शन के दौरान बताया कि बीते 70 साल में ऐसा पहली बार हो रहा है जब डीजल के दाम पेट्रोल से भी ज्यादा बढऩे को बेकरार है ऐसे में जश्न तो मनाया जाना चाहिए फिर भले ही वो जश्न कटाक्ष के रूप में हो। þ

पेट्रोल और डीजल के दामो की बराबरी ने एक तरह से केंद्र के मोदी तो प्रदेश में शिवराज सरकार की मुश्किल बढ़ा दी है। हालांकि इसे कोरोना और लॉक डाउन की मजबूरी के पर्दे में ढांकने की कोशिश तो की जा रही है लेकिन प्रदेश में होने वाले आगामी उपचुनाव के पहले बैठे बिठाए सडक़ो पर उतरने के लिए एक मुद्दा तो मिल ही गया है जिसे वो किसी भी कीमत पर भुनाने की कोशिश में कोई कोर कसर नही छोडऩा नही चाहती है।