कांग्रेस ने निकाली लोकतंत्र सम्मान यात्रा, भाजपा पर साधा निशाना, कही ये बड़ी बात

उन्होंने कहा कि छल- कपट, गद्दारी-मक्कारी की दोस्ती ज्यादा दिन नहीं चलती है और ना ही कोई इससे आगे बढ़ सकता है, उन्होंने कहा कि इस तरह का जो सुख होता है वह क्षणिक समय के लिए होता है

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश में भाजपा शासन के 15 साल बाद सत्ता में आई कमलनाथ सरकार (Kamal Nath) को 15 माह बाद ही गिरा दिया गया,आज ही के दिन 20 मार्च 2020 को कांग्रेस (Congress) की सरकार गिराकर पुनः शिवराज सरकार सत्ता में काबिज हुई थी।  इसी को लेकर आज पूरे प्रदेश में कांग्रेस (Congress) ने लोकतंत्र सम्मान यात्रा निकाली है।

अंबेडकर चौक से टाउन हॉल तक निकाली लोकतंत्र सम्मान यात्रा

पूर्व सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया की अगुवाई में कांग्रेस (Congress) ने जबलपुर के अंबेडकर चौक से लेकर टाउन हॉल तक एक विशाल लोकतंत्र सम्मान तिरंगा यात्रा निकाली इस यात्रा में नगर अध्यक्ष दिनेश यादव सहित कई कांग्रेस (Congress) नेता शामिल हुए।

20 मार्च 2020 संविधान और लोकतंत्र का काला दिन

कांग्रेस (Congress) की लोकतंत्र सम्मान यात्रा में शामिल हुए पूर्व सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जिस तरह से भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने जनता के द्वारा चुनी गई सरकार को गिराने का काम किया है यह है लोकतंत्र की हत्या है उन्होंने कहा कि 15 साल तक सत्ता का सुख भोगने वाले शिवराज सिंह ने छल कपट से जनता के द्वारा चुनी गई कमलनाथ सरकार को जो गिराने का काम किया है वह बताता है कि शिवराज सिंह को सत्ता का कितना लोभ है।

सिंधिया- शिवराज के डिनर पर भी बोले पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया

मध्य प्रदेश के पूर्व सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया ने ज्योतिरादित्य सिंधिया और शिवराज सिंह चौहान के डिनर पर भी तंज कसा, उन्होंने कहा कि छल- कपट, गद्दारी-मक्कारी की दोस्ती ज्यादा दिन नहीं चलती है और ना ही कोई इससे आगे बढ़ सकता है, उन्होंने कहा कि इस तरह का जो सुख होता है वह क्षणिक समय के लिए होता है इसलिए इस तरह के डिनर से किसी तरह का किसी को फायदा नहीं होना है।

लोकतंत्र सम्मान यात्रा में उड़ी कोविड-19 की धज्जियां

कांग्रेस (Congress) पार्टी के द्वारा निकाली गई आज सम्मान यात्रा में कोविड-19 की जमकर धज्जियां उड़ाई गई, कांग्रेसी (Congress)  नेताओं के द्वारा ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा था और ना ही कांग्रेसी (Congress)  नेताओं ने मास्को को मुंह पर चढ़ा रखा था ऐसे में कहा जा सकता है कि जिस तरह मध्य प्रदेश में लगातार कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है उसके बाद ही कांग्रेस (Congress)  की यह नेता इस भयावह महामारी से बिल्कुल भी नहीं घबरा रहे।