Corona: पिछले साल जैसी बन रही परिस्थितियां, सारंग बोले- घबराने की जरूरत नहीं, सरकार तैयार है

सारंग ने कहा कोरोना से बचने के लिए अनुशासन का पालन करना अनिवार्य है।

Dewas Corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना संक्रमण (Corona Infection) ने एक बार फिर से भारत (India) में रफ्तार (Speed) पकड़ ली है। अब भारत विश्व के उन 15 देशों में दोबारा शामिल हो गया है जहां कोरोना संक्रमण की रफ्तार सबसे अधिक है। महाराष्ट्र और कर्नाटक (Maharashtra And Karnataka) में सबसे ज्यादा स्थिति खराब हो रही है। महारष्ट्र के अमरावती (Amravati) में संक्रमण को देखते हुए यहां सरकार ने 7 दिनों का लॉकडाउन (Lock Down) लगा दिया है। वहीं मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में भी अब कोरोना की रफ्तार तेज होती दिख रही है। जो अब चिंता का विषय बन गया है।

लगातर बढ़ रहे एक्टिव केस

वर्तमान में जो आंकड़े प्रदेश में सामने आ रहे हैं उसको देख कर नज़र आ रहा है कि मध्यप्रदेश दोबारा अप्रैल और मई 2020 की स्थिति में लौट रहा है। रविवार को प्रदेश में कोरोना के 299 नए मामले सामने आए थे और 4 लोगों की मौत हुई है। जैसे-जैसे प्रदेश में कोरोना के नए संक्रमित सामने आ रहें है वैसे-वैसे यहां लगातार एक्टिव केसों (active case)की संख्या भी बढ़ती जा रही है। रविवार की स्थिति में प्रदेश में 2051 एक्टिव केस थे। प्रदेश में पिछले 24 घंटों में सबसे अधिक कोरोना के केस इंदौर में आए हैं। यहां रविवार को कोरोना के 135 नए मामले दर्ज किए गए हैं।

कोरोना से बचने के लिए अनुशासन है जरूरी

मध्यप्रदेश में फिर से बढ़ रही संक्रमितों की संख्या को लेकर मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (health minister vishwas sarang) का कहना है कि, कोरोना की रफ्तार जरूर कम हुई है लेकिन कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। जिस तरह बाकी राज्यों में संक्रमण की रफ्तार बढ़ी है उसी तरह शहरों में भी पिछले महीने के मुकाबले संक्रमण में इजाफा हुआ है। सारंग ने कहा कोरोना से बचने के लिए अनुशासन का पालन करना अनिवार्य है। उन्होंने मास्क का इस्तेमाल करें और सोशल डिस्टनसिंग का पालन करे को कहा है।

घबराने की नहीं है जरूरत पूरी व्यवस्था है

मंत्री सारंग का कहना है कि संक्रमण में थोड़ी से गति आई है लेकिन हमने अपने अस्पतालों में सारी व्यवस्था चौक चौबंद रखी है। उन्होंने बताया कि इलाज की व्यवस्था में किसी भी प्रकार की कमी नहीं है, पर्याप्त मात्रा में अस्पतालों में बिस्तर, ऑक्सीजन और वेंटिलेटर है। उन्होंने कहा कि जनता घबराए नहीं कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सरकार के पास पूरी व्यवस्था है।

हम ही बरत रहे लापरवाही

विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना संक्रमण बढ़ने के पीछे हमारी लापरवाही है। सब्जी बाजार और हाटों में अब पहले के मुकाबले ज्यादा भीड़ देखी जा रही है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पा रहा है। बाजारों में और दुकानों पर से भी अब सेनेटाइजर भी दिखाना बंद हो गए है। यही कारण है कि संक्रमण ने दोबारा से रफ्तार पकड़ी है।