Dabra News : परिषद की बैठक से पहले पक्ष और विपक्ष के पार्षदों ने किया जोरदार हंगामा, जानें पूरा मामला

प्रदर्शन के दौरान धरने पर बैठे पार्षद 10 पार्षदों ने हंगामा भी किया, एक गेट पर पार्षद तो दूसरे गेट पर सफाई कर्मचारियों का धरना जारी है।

Dabra Nagar Palika News : डबरा नगर पालिका कार्यलय के बाहर परिषद की बैठक से पहले पक्ष और विपक्ष के पार्षदों ने हंगामा किया, उन्होंने भेड़, बकरियां, मुर्गे, गाय, बछड़े खड़े कर परिषद के मुख्य द्वार पर प्रदर्शन किया। बैठक में सभी पार्षदो ने अध्यक्ष के समर्थक पार्षदों के वार्डो में विकास कार्य कराने के आरोप लगाए, साथ ही प्रदर्शन के दौरान धरने पर बैठे पार्षद 10 पार्षदों ने हंगामा भी किया, एक गेट पर पार्षद तो दूसरे गेट पर सफाई कर्मचारियों का धरना जारी है।

यह है मामला

आखिरकार डबरा नगरपालिका का कार्य पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो चुका है। क्योंकि डबरा नगरपालिका में ना ही कोई अधिकारी बैठ रहा और ना ही कोई कर्मचारी ऐसे में डबरा नगर की मासूम जनता आखिर अपने काम काज करवाने के लिए कहां जाए क्योंकि डबरा नगर पालिका की स्थिति बड़ी ही बेहाल है। आपको बता दें कि डबरा नगरपालिका मैं पिछले 3 दिनों से सफाई कर्मचारियों का धरना प्रदर्शन चल रहा है। साथ ही आज पार्षदों द्वारा भी नगरपालिका के बहार अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया गया।

पार्षदों ने लगाए आरोप

वार्ड क्रमांक 2 के पार्षद लवलेश कैन ने बताया कि नगर पालिका परिषद में अध्यक्ष चुनाव हुआ था तब कुछ पार्षदों ने अध्यक्ष लक्ष्मी देवी के पक्ष में वोट नहीं डालें जिसके कारण डबरा नगर पालिका परिषद द्वारा कुछ पार्षदों के साथ भेदभाव किया जा रहा है परिषद की बैठक में हमारे कार्यों के प्रस्तावों को निरस्त कर दिया जाता है यह भेदभाव हम नहीं सहेंगे।

वार्ड क्रमांक 16 की पार्षद सुनीता महाराज सिंह राजौरिया ने कहा कि हम अपनी मांगों को लेकर आज धरने पर बैठे हैं क्योंकि हमें वार्ड की जनता ने अपना प्रतिनिधि चुना है लेकिन हम जनता के कोई भी कार्य नगरपालिका से नहीं करा पा रहे हैं क्योंकि नगर पालिका में परिषद की बैठक के दौरान हमारे द्वारा जनता के हित के लिए प्रस्तावित किए कार्यों को सीआईसी द्वारा नामंजूर कर दिया जाता है। ऐसी स्थिति डबरा नगरपालिका की बनी हुई है या फिर यूं कहा जा सकता है कि डबरा नगरपालिका पूरी तरह राजनीति की भेंट चढ़ चुकी है जिसमें डबरा की मासूम जनता इस चीज का खामियाजा भुगत रही है। क्योंकि एक पक्ष के ही पार्षद आपस में नगरपालिका परिषद का विरोध जता रहे हैं। अब देखना यह है कि आखिरकार डबरा नगरपालिका इन समस्याओं से कैसे बाहर निकलेगी या फिर डबरा में यूं ही यह सिलसिला जारी रहेगा।
डबरा से अरुण रजक की रिपोर्ट