अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे किसान, मांग पूरी नहीं होने पर करेंगे उपचुनाव का बहिष्कार

डबरा,सलिल श्रीवास्तव। कृषि उपज मंडी प्रांगण में आज क्षेत्र के सैकड़ों की संख्या में किसान एकत्रित होकर अनिश्चित कालीन धरने पर बैठ गये। किसानों की मांग है कि उनकी धान की उपज का मूल्य 14 सौ से बढ़ाकर लगभग चार हज़ार रुपय किया जाना चाहिये। इसी के साथ प्रदेश भर में मॉडल मंडी एक्ट के खिलाफ आज से  प्रदेश की 272 मंडियों के 90 हजार से अधिक किसान हड़ताल पर चले गए हैं।

किसानों का कहना है कि महंगाई के इस दौर में इस मूल्य से हमारी खेती की लागत भी नहीं निकल पा रही है। किसानो का साफ़ तौर पर कहना है कि जब तक हमारी मांगे नहीं मानी जाती, यह धरना जारी रहेगा। किसानों ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि हमारा यह आंदोलन समय के साथ उग्र होता जाएगा। साथ ही किसान उपचुनाव के बहिष्कार को लेकर भी रणनीति बना रहे है, यदि मांगे नहीं मानी गई तो नेताओं को गांवों में नहीं घुसने दिया जायेगा।

बता दें कि डबरा कृषि उपज मंडी में सैकड़ों की संख्या में आसपास के गांव के किसान इकट्ठा होकर धरना प्रदर्शन पर बैठे हैं तो दूसरी तरफ आज पिछोर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले श्याबर वाली माता मंदिर के प्रांगण में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा कई विकास कार्यो का शिलान्यास एवं भूमि पूजन करेंगे। लेकिन किसान है कि अपनी मांगों को लेकर अभी भी धरने पर बैठे हुए हैं। उनका कहना है कि हमारी मांगें जब तक पूरी नहीं होगी तब तक हम धरने पर ही बैठे रहेंगे और आने वाले उप चुनाव का बहिष्कार भी करेंगे। कुछ दिनों पहले किसानों ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा था, लेकिन अभी तक उसका कोई भी हल नहीं निकला है , जिससे किसानों में बहुत आक्रोश देखा जा रहा है।