पूर्व मंत्री की सरकार और प्रशासन से अपील-“कोई बिना छत के न सोए, कोई बच्चा भूखा न रोए”

इमरती देवी

डबरा, गौरव शर्मा। ग्वालियर–चंबल संभाग में भारी बारिश के बाद कई स्थानों पर हालात काफी बिगड़ गए हैं। दोनों संभागों में प्रवाह होने वाली चम्बल, पार्वती, सिंध सहित अन्य सभी नदियां उफान पर हैं। लगातार हो रही बारिश और मानीखेड़ा, कार्केट्टो आदि बांधों से छोड़े जा रहे पानी ने नदियों का जलस्तर और बढ़ा दिया है जिससे पूरे क्षेत्र में जनजीवन अस्त व्यस्त होगया है। आपको बता दें आज सुबह डबरा में सिंध नदी के नए पुल पर दरार आने के बाद उसपर आवागमन रोक दिया गया है।

एक ओर जहां मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, और ज्योतिरादित्य सिंधिया लगातार बाढ़ प्रभावित जिलों पर नजर रखे हैं, वहीं दूसरी ओर पूर्व महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी सुबह से डबरा के अलग अलग क्षेत्रों का दौरा कर रही हैं। उन्होने कहा है कि सरकार द्वारा पीड़ितों की हरसंभव सहायता की जाएगी।

MP के राज्यपाल पहुंचे Betul के बांचा गांव, चखा आदिवासी के घर उनके परंपरागत भोजन का स्वाद

डबरा सिंध नदी पर हाल ही में नेशनल हाईवे अथॉरिटी द्वारा बनाए गए नए पुल पर दरार आने के बाद उस पर यातायात को सुबह से ही रोक दिया गया था। बता दें कि यह पुल ग्वालियर जिले को दतिया जिले से जोड़ता है।

कुछ देर पहले एमबी ब्रेकिंग न्यूज से हुई बातचीत में डबरा एसडीओपी विवेक शर्मा ने बताया कि नेशनल हाईवे की टीम द्वारा दरार आए पुल का निरीक्षण किया गया है और साथ ही नदी का जलस्तर भड़ने के बाद यातायात को पुराने ब्रिज पर भी दोनों तरफ से रोक दिया गया है। प्रशासन की तरफ से रोके गए यात्रियों के ठहरने और खाने आदि की समुचित व्यवस्था की जा रही है।

पूर्व महिला एवं बालविकास मंत्री इमरती देवी भी दिनभर से प्रभावित इलाकों का लगातार भ्रमण कर रही हैं। उनका कहना है कि वे लगातार डबरा प्रशासन से संपर्क में हैं और उनकी कोशिश रहेगी कि प्रशासन और सरकार द्वारा पीड़ितों की हरसंभव सहायता की जाए। एमपी ब्रेकिंग न्यूज के एडिटर गौरव शर्मा के साथ बातचीत में उन्होने कहा कि फिलहाल लोगों की जान बचाना हम सभी की प्राथमिकता है, सरकार प्रभावितों के साथ खड़ी है और सभी की पूरी तरह मदद की जाएगी।