रेत का अवैध परिवहन: 10 ट्रैक्टर-ट्रॉली पकड़े, डबरा SDOP की कार्यवाही

डबरा/सलिल श्रीवस्ताव।
रेत के अवैध परिवहन पर प्रशासन ने एक बार फिर बड़ी कार्यवाही को अंजाम देते हुए 10 ट्रैक्टर टोलियां को जप्त कर लिया है जिन्हें बिलौआ और डबरा थाना परिसर में रखवा दिया गया है यह वाहन पिछोर क्षेत्र से रेत भरकर ला रहे थे और बिलौआ थाना क्षेत्र से गुज़र कर ग्वालियर जा रहे थे।कार्यवाही डबरा एसडीओपी उमेश तोमर के नेतृत्व में अंजाम दी गई।नवागत पुलिस कप्तान अमित सांघी के जिले की कमान संभालते ही रेत माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए गए जिनके पालन में डबरा एसडीओपी उमेश तोमर ने एक टीम का गठन किया जिसमें एसआई सुमित सुमन,एसआई देवेंद्र लोधी के साथ प्रधान आरक्षक जितेंद्र तिवारी को शामिल किया गया टीम ने दो जगह एंबुश लगाए रेत से भरे हुए चार ट्रैक्टर टेकनपुर क्षेत्र से पकड़े,छः ट्रैक्टर जोरासी घाटी के पास से पकड़े ट्रैक्टरों के साथ पांच ड्राइवर भी पकड़ में आए हैं जप्त ट्रैक्टरों को डबरा और बिलौआ थाना परिसर में रखवा दिया गया है ।

आपको बता दें कि एनजीटी की रोक के चलते जिले में रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन पूरी तरीके से प्रतिबंधित है उसके बावजूद भी रेत माफिया पुलिस के सहयोग से इस धंधे को करने से बाज नहीं आ रहे पूर्व कप्तान नवनीत भसीन ने स्पष्ट निर्देश दिए थे कि जिस थाना क्षेत्र से रेत का अवैध परिवहन होगा वह थाना प्रभारी कार्यवाही के लिए तैयार रहें एसपी के जाते ही रेत का काला कारोबार फिर शुरू हो गया जिस पर आज डबरा एसडीओपी ने कुछ हद तक अंकुश लगाया है फ़िललाल इस कार्रवाई से इतना तो स्पष्ट है कि नवागत एसपी रेत माफियाओं पर कार्रवाई के मूड में है और आने वाले समय में विभिन्न थाना क्षेत्रों में बड़ी कार्रवाई देखने को मिल सकती है सबसे बड़ी बात यदि रेत एक थाना क्षेत्र पिछोर से चोरी छिपे निकलती है तो दूसरे थाना क्षेत्र बिलौआ कैसे उन्हें नहीं रोकता यह समझ से परे है जवकी पुलिस रात भर चेकिंग पोईंट पर तैनात रहती है।देखना यह है कि कौन कौन थाना प्रभारी अपने क्षेत्र में रेत के इस काले कारोबार पर अंकुश लगाता है या फिर चोरी छुपे रेत का अवैध परिवहन जारी रखता है।

माइक वन और माइक टू का निर्देश मिला था जिसके आधार पर टीम बनाई गई और रेत का अवैध परिवहन करते 10 ट्रैक्टर ट्रॉलीओं को जप्त किया है जप्त वाहनों को थाना परिसर में रखवा दिया गया है 5 डाइवर भी पकड़े हैं सभी ट्रैक्टरों के खिलाफ माइनिंग एक्ट के साथ चोरी का प्रकरण दर्ज किया जाएगा,अनुविभाग के किसी भी थाने से अब रेत का अवैध परिवहन नहीं होने दिया जायेगा।
उमेश तोमर एसडीओपी डबरा