‘एक जिला, एक उत्पाद’ के तहत ‘दमोह की दाल’ को किया जाएगा प्रमोट, यहां के टमाटर को भी मिलेगी नई पहचान

दमोह में कृषि विज्ञान केंद्र में किसानों और व्यापारियों के बीच हुई एक कार्यशाला के माध्यम से ‘एक जिला, एक उत्पाद’ को बढ़ावा देने के विषय में विस्तार से चर्चा की गई जिसमें यह निर्णय लिया गया।

दमोह, आशीष कुमार जैन। भारत सरकार (Central government) के द्वारा अब ‘एक जिला, एक उत्पाद’ योजना को लेकर एक विशेष कार्य योजना बनाई गई है, जिसके तहत 1 जिले में विशेष उत्पाद को पूरे देश में प्रमोट करने का काम केंद्र सरकार के द्वारा किया जाएगा। इस कड़ी में भारत सरकार के केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग एवं जनशक्ति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल विशेष काम कर रहे हैं और इसी के तहत दमोह जिले की दाल को ‘दमोह की दाल’ के रूप में राष्ट्रीय स्तर पर प्रमोट किया जाएगा। वहीं इस श्रृंखला में टमाटर भी शामिल होगा और इसे भी इसी मंत्रालय के माध्यम से आगे बढ़ाने का काम होगा।

ये भी पढें- सिंध नदी में नहाने गई तीन नाबालिग डूबी, दो की मौत, एक की तलाश जारी

बता दें, दमोह जिला मुख्यालय स्थित कृषि विज्ञान केंद्र में किसानों और व्यापारियों के बीच हुई एक कार्यशाला के माध्यम से ‘एक जिला, एक उत्पाद’ को बढ़ावा देने के विषय में विस्तार से चर्चा की गई। दरअसल केंद्र सरकार के राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल के द्वारा खाद्य प्रसंस्करण उद्योग विभाग के माध्यम से दमोह जिले की दाल को बेस्ट क्वालिटी की दाल आंका गया है। उसे ब्रांडिंग करके पूरे देश में बेचने का काम शुरू किया जाएगा। इसको लेकर जहां बैठक के माध्यम से किसानों, व्यापारियों और दाल मिल फैक्ट्री चलाने वाले लोगों के बीच समन्वय बनाने की बात कही गई साथ ही यह भी तय किया गया कि सभी मिलकर के दमोह की दाल को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाएंगे। इसको लेकर दमोह जिला प्रशासन भी मुस्तैदी के साथ काम करने में जुटा है।

जहां एक ओर दमोह की दाल को प्रमोट करने के लिए व्यापारी और किसान संघ के बीच कृषि विज्ञान केंद्र में ग्रहण चर्चा की गई, तो वहीं दमोह के कलेक्टर भी मानते हैं कि आगामी दिनों में दमोह की दाल को प्रमोट करके एक नई पहचान दिलाने का काम किया जाएगा। जहां दमोह की दाल को एग्रीकल्चर के क्षेत्र में आगे बढ़ाया जाएगा, वहीं हॉर्टिकल्चर के माध्यम से दमोह के टमाटर को भी प्रमोट किए जाने की बात सामने आ रही है। ऐसे में आगामी दिनों में दमोह की दाल और दमोह का टमाटर एक जिला एक उत्पाद के रूप में राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान कायम करेगा।