Lakhimpur Kheri Violence : कांग्रेस के पुतला दहन प्रदर्शन पर प्रशासन ने फेरा पानी, विरोध जारी

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत के मामले में कांग्रेस लगातार विरोध कर रही है।

दमोह, आशीष कुमार जैन। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुए घटनाक्रम के बाद मध्य प्रदेश के दमोह में कांग्रेस का विरोध तेज हो गया है। जिला कांग्रेस कमेटी के साथ कांग्रेस सेवादल और महिला कांग्रेस द्वारा पुतला दहन का आयोजन किया गया था और पुतला दहन की नाकाम कोशिश भी की गई जिसपर प्रशासन ने रोक दिया। इस दौरान प्रदर्शनकर्ताओं द्वारा ज्ञापन सौंपकर दोषी मंत्री पुत्र के खिलाफ कार्रवाई करने और मृतकों को एक करोड़ का मुआवजा दिए जाने की मांग की गई।

ये भी पढ़ें- Road Accident : तेज रफ्तार ट्रक ने स्कूटी सवार दंपति को मारी टक्कर, महिला की मौत

दरअसल दमोह के अंबेडकर चौराहे पर एकत्रित हुए कांग्रेसियों ने उत्तर प्रदेश में किसानों की मौत के मामले में विरोध प्रदर्शन करते हुए केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। नारेबाजी के साथ ही कांग्रेस के सेवा दल द्वारा पुतला दहन कार्यक्रम का आयोजन भी पूर्व घोषणा के अनुसार किया गया था, लेकिन जैसे ही प्रदर्शन स्थल पर पुतला लेकर कांग्रेस के युवा पहुंचे, वैसे ही पुलिस प्रशासन के द्वारा पानी की बौछार से पुतले को नष्ट कर दिया गया और पुतला जलाने नहीं दिया गया। वहीं कांग्रेसियों का कहना था कि उत्तर प्रदेश में हुई घटना के बाद लगातार आक्रोश बढ़ रहा है। कांग्रेसियों ने इस घटना के विरोध में आंदोलन शुरू किया है। जो लगातार जारी रहेगा।

कांग्रेस के जिला अध्यक्ष सहित सेवादल अध्यक्ष और महिला कांग्रेस अध्यक्ष ने भी आंदोलन में हिस्सा लेते हुए पीड़ित परिजनों को 1 करोड़ रुपए का मुआवजा दिए जाने की मांग की। इसके अलावा उन्हें शासकीय नौकरी भी दिए जाने की मांग की गई है। कांग्रेस का यह भी कहना था कि यदि उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा उनकी मांगों को नहीं माना जाता तो आंदोलन को तेज किया जाएगा।