दमोह जनपद सीईओ के खिलाफ लामबंद हुए कर्मचारी, हटाने की मांग

गणेश अग्रवाल/दमोह। दमोह जनपद के सीईओ की कार्यप्रणाली से परेशान होकर जनपद पंचायत दमोह के कर्मचारियों ने एकमत होकर जनपद पंचायत सीईओ को हटाने की मांग की है। जनपद के कर्मचारियों ने पहले कार्यालय खाली कर नारेबाजी की और फिर सभी लामबंद होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे और मामले की शिकायत कलेक्टर से की।

सीईओ के पद पर पदस्थ राजभर पटेल इन दिनों जनपद पंचायत के कर्मचारियों सचिव एवं सरपंच संगठनों के निशाने पर हैं। कर्मचारियों का आरोप है कि सीईओ इनसे अभद्रता से बात करते हैं और हिटलर जैसा सलूक करते हैं। कर्मचारियों का कहना है कि काम पूरा करने के बाद भी सीईओ बेवजह खामियां निकालते हैं और कभी लेट हो जाने पर दुर्व्यवहार करते हैं। कर्मचारियों का कहना है कि जनपद कार्यालय रात नौ बजे तक संचालित किया जाता है और महिला कर्मचारियों को भी इतनी रात तक काम करने के लिये मजबूर किया जाता है। इन्हीं शिकायतों के कारण कर्मचारी जनपद सीईओ को हटाने की मांग कर रहे हैं।

हालांकि जनपद सीईओ सारे आरोपों को नकारते हुए कह रहे हैं कि वो ईमानदारी से काम कर रहे हैं और सभी कर्मचारियों से नियमों का पालन करने को कहते हैं इसीलिये सब उनके खिलाफ एकजुट हो गए हैं। इस मामले में कलेक्टर ने कहा है कि उनके पास कर्मचारियों की शिकायत पहुंची है और वो पूरी जांच करने के बाद उचित कार्रवाई करेंगे।