Damoh News : श्मशान भूमि पर दबंगों ने किया कब्जा, ग्रामीणों ने प्रशासन से हटाने की मांग

गांव के सार्वजनिक शमशान घाट और वहां तक जाने के लिए बनाए गए आम रास्ते को दबंगो ने कब्जा कर लिया है। ये दबंग इस जमीन पर खेती कर रहे हैं और उनकी फसल के बीच से कोई निकल नही सकता

damoh news

Damoh News : मध्य प्रदेश के दमोह जिले से एक बड़ा मामला सामने आया है। जहां श्मशान घाट की भूमि पर दबंगो का कब्जा हो जाने के बाद ग्रामीणों ने स्थानीय प्रशासन से पूछा है कि आखिर मुर्दे कहाँ जलाएं और कहां ले जाएं? मामला सूबे के संस्कृति मंत्री धर्मेंद्र लोधी के विधानसभा क्षेत्र जबेरा के तहत आने वाले तेन्दूखेड़ा ब्लाक से सामने आया है। इस ब्लाक के सेल्वाड़ा गाँव के लोग लंबे समय से दबंगो की दबंगई से परेशान हैं, इस गांव के सार्वजनिक शमशान घाट और वहां तक जाने के लिए बनाए गए आम रास्ते को दबंगो ने कब्जा कर लिया है। ये दबंग इस जमीन पर खेती कर रहे हैं और उनकी फसल के बीच से कोई निकल नही सकता ।

क्या है पूरा मामला

बता दें कि गांव में किसी की मौत हो जाये तो उसके अंतिम संस्कार के लिए कोई जगह नहीं है। पिछले दिनों गाँव में हुई कुछ मौतों के बाद लोग मुद्दों को जलाने के लिए परेशान होते रहे और फिर अपने खेतों में उन्हें अंतिम संस्कार करना पड़ा। एक बार फिर गांव के लोग परेशान है उन्होंने मामले को लेकर प्रशासन से शिकायत की है।

इस मामले में इलाके की तहसीलदार बताती है कि एक बार पहले भी गांव के दबंगो का कब्जा हटवाया गया है। लेकिन फिर से हुए कब्जे के बाद अब कब्जाधारियों पर मामला दर्ज कर शमशान की भूमि और रास्ते को खाली कराया जाएगा।
दमोह से दिनेश अग्रवाल की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है।वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”