दमोह : राजनीति कम खर्चीली हो और सुचिता बनी रहे – केंद्रीय राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल

राजनीति में आदिवासियों के योगदान के साथ देश के विकास में सहभागिता की बात कही हैं

दमोह, आशीष कुमार जैन। देश की राजनीति काम खर्चीली हो और राजनैतिक सुचिता बनी रहे इसे लेकर अब केंद्रीय राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल ने मुहीम शुरू की है और इसकी शुरुआत उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र दमोह के आदिवासी बाहुल्य गावं सिगोड़ी से की। जलशक्ति राजयमंत्री पटेल अपनी पत्नी पुष्पलता सिंह के साथ सिगोड़ी पहुंचे और उन्होंने यहाँ आदिवासियों के बीच संवाद किया वहीँ जनजाति के लोगों के साथ भोजन करने के साथ ही उन्होंने रात्रि विश्राम भी यही किया।

यह भी पढ़े…जब रिश्वत लेते बाबू ने पकड़े जाते ही किया लोकायुक्त टीम पर चाकू से हमला

इस मौके पर आदिवासी समुदाय को संबोधित करते हुए मंत्री पटेल ने राजनीति में आदिवासियों के योगदान के साथ देश के विकास में सहभागिता की बात कही हैं मीडिया से बातचीत में पटेल ने अपने इस कार्यक्रम के बारे में कहा की पार्टी की मंशा है की आने वाली पीढ़ी को अपने महापुरुषों के त्याग बलिदान से अवगत कराया जाए जिसके तहत उन्होंने आदिवासी अंचल से ये शुरुवात की है उन्होने कहा की राजनीति कम खर्चीली हो और सुचिता बनी रहे इसके लिए वो लोगों से संवाद कर रहे है।

यह भी पढ़े…जबलपुर : योगमणि इंस्टीयूट में हुआ कोरोना बम विस्फोट, एक दर्जन से ज्यादा लोग निकले संक्रमित

मध्यप्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने बूथ विस्तारक योजना शुरू की हैं, और इसमें यह तय किया हैं जो राजनैतिक विचार धारा है और राजनैतिक कार्य प्रणाली है उसमें सादगी विचार धारा के प्रतिबद्धता, राजनैतिक सुचिता और नैतिक मूल्यों पर आधारित राजनीति हैं। इनके प्रति आने वाली पीढ़ी को सचेत करना हैं साथ ही बढ़ते हुए चुनाव खर्चे हो या साधनों की मारामारी हो ये राजनीतिक स्वच्छता को प्रभावित करते हैं और राजनीतिक खर्चीली न हो विशेषकर चुनावी राजनीति यह तभी संभव हो आने वाली पीढ़ी को बताए।