ग्रीन से ऑरेंज जोन में पहुंचा दमोह, कोरोना का पहला पॉजिटिव मिला

दमोह। गणेश अग्रवाल। जिले की जनपद तेंदूखेड़ा के ग्राम सर्रा निवासी एक युवक पहला Covid-19 केस के रूप में सामने आया है। कलेक्टर तरुण राठी, पुलिस अधीक्षक हेमन्त चौहान और सीईओ जिला पंचायत डॉ गिरीश मिश्र के साथ मौके के लिये रवाना हो गये। दल मोके पर पहुँच रहा है। इस क्षेत्र को कैंटोनमेंट क्षेत्र घोषित करने की कार्रवाई की जा रही है।

कोविड-19 के मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में प्रवेश करने के साथ ही दमोह (Damoh) जिला लगातार ही ग्रीन जोन में शामिल रहा है। जिला प्रशासन की मुस्तैद व्यवस्था के चलते जिला ग्रीन जोन (Green Zone) में रहा। वही मजदूरों के अपने घर वापस आने के साथ ही यह ग्रीन जोन का तमगा ऑरेंज जोन (Orange Zone) में परिवर्तित हो गया। दरअसल जिले के तेंदूखेड़ा विकासखंड अंतर्गत आने वाले सर्रा ग्राम में महाराष्ट्र से अपने गांव लौटा युवक क्वॉरेंटाइन सेंटर में था। वही उसकी जांच के बाद वह पॉजिटिव निकला है।

जिला अस्पताल की सिविल सर्जन डॉ ममता तिमोरी ने इस मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि यह मरीज क्वॉरेंटाइन सेंटर में भर्ती था। जिसकी ट्रेवल हिस्ट्री महाराष्ट्र की है। महाराष्ट्र से आने के बाद उसे क्वॉरेंटाइन किया गया था। वही सैंपल बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज सागर भेजा गया था। जहां से यह पॉजिटिव मरीज होने की पुष्टि की गई है। जिला प्रशासन के साथ अस्पताल प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है।