दमोह : पति को जेल से छुड़ाने के लिए कलेक्ट्रेट में न्याय मांगने पहुंची महिला

जिला कलेक्ट्रेट में खुद को आग लगाने के लिए दौड़ी महिला, पुलिस की सक्रियता से हादसा टला

दमोह,आशीष कुमार जैन। जिले के तेंदूखेड़ा क्षेत्र की रहने वाली दसोदा रैकवार न्याय की गुहार लगाने के लिए जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय में पहुंची थी। जहाँ उन्होंने तेंदूखेड़ा एसडीएम को हटाने व पति को जेल से रिहा करने की मांग की। जब मांग पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही तभी वह दौड़ लगाकर अपनी गाड़ी के पास पहुंची फिर गाड़ी से ज्वलनशील पदार्थ निकालने का प्रयास किया गया। उसी समय पुलिस ने मामले को भांपते हुए महिला के पीछे दौड़ कर महिला के हाथ से वह ज्वलनशील पदार्थ छीन लिया। और हादसा होने से टल गया।

यह भी पढ़े… Datiya news: दतिया में उड़ रहा स्वच्छता अभियान का मजाक, शहर में जगह-जगह फैली गंदगी

महिला के मुताबिक वह अपने निर्दोष पति की रिहाई चाहती है और इसी कारण से वह कुछ भी कर सकती है। महिला ने अपने बयानों में पति को नहीं छोड़ने पर स्वयं आग लगाने एवं बच्चों को भी आग के हवाले कर देने की धमकी दी थी। जिसके बाद यह पूरा घटनाक्रम सामने आया है। दरअसल महिला के पति मंगल रैकवार को अतिक्रमण करने के एक मामले में एसडीएम कोर्ट से जेल भेजा गया है। वही महिला द्वारा जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर तेंदूखेड़ा एसडीएम को हटाने व अपने पति को जेल से बाहर निकालने की मांग कर रही थी। इसी दौरान महिला ने जहां स्वयं को आग के हवाले करने की धमकी दी, तो वह अपनी गाड़ी में रखें ज्वलनशील पदार्थ को लेने के लिए उसने दौड़ी लगाई। इसी दौरान पुलिस भी उसके पीछे दौड़ी और पुलिस के द्वारा उस ज्वलनशील पदार्थ को जप्त कर लिया गया। और पुलिस की सक्रियता से निश्चित ही महिला के द्वारा कोई अप्रिय घटना घटित की जा सकती थी। जिसको पूरी तरह रोका गया, इस पूरे मामले को लेकर के महिला और रैकवार समाज के प्रदेश अध्यक्ष ने जानकारी दी।

यह भी पढ़े… मप्र पंचायत चुनाव: अब केंद्र सरकार ने लगाई SC में याचिका, 3 जनवरी को सुनवाई, हो सकता है बड़ा फैसला

पीड़ित महिला दसोदा बाई रैकवार ने बताया कि एसडीएम मैडम बोल रही है कि हम आपके पति को रिहा नहीं करेंगे तब उनकी माँग है कि एसडीएम मैडम को हटाया जाए और पति को रिहा किया जाए, और अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम आग लगा के मर जायेंगे साथ ही तीनों बच्चों को चला देंगे।

यह भी पढ़े…मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के सीनियर अधिवक्ता आदर्श मुनि त्रिवेदी का निधन

रैकवार समाज प्रदेश अध्यक्ष मोंटी रैकवार ने बताया कि मंगल रैकवार के द्वारा 22 से 30 फुट पर सरकारी जमीन पर कब्जा किये हुए जिसको हटाने के लिए तेंदूखेड़ा एसडीएम के द्वारा उसकी गिरफ्तारी की गई है और उसको जेल भेजा गया है, जहाँ मध्यप्रदेश की शिराज सरकार कहती है कि जो सरकारी जमीन पर काबिज है उनको हम पट्टा देंगे। लेकिन उन्हीं का प्रशासन लोगों को जेल भेजते है और कहते है लिखते में आदेश दो तब रिहाई करेंगे हमने तय किया है कि हम लोग लिखकर ऐसे रिहाई नहीं लेंगे अगर बिना शर्त के रिहाई नहीं हुई तो हम सब आत्महत्या कर लेंगे साथ ही उन्होंने एसडीएम को हटाने की मांग व मंगल रैकवार की बिना शर्त रिहाई होना चाहिए।