खाद की किल्लत से जूझ रहे किसान अब दे रहे सुसाइड की धमकी

दमोह, आशीष कुमार जैन । जिले में लगातार देखी जा रही खाद की कमी और कालाबाजारी के बीच जहां किसान कई बार सड़कों पर आ चुके हैं वहीं अब आक्रोशित किसान सुसाइड की धमकी दे रहे हैं। जिले के हटा में दस बार सड़क जाम और आंदोलन कर चुके किसानों की कोई सुनने वाला नही और हर दिन हंगामा करने वाले किसान अब इस कदर दुखी हैं कि बोनी न हो पाने की स्थिति में खुद को खत्म करने की धमकी दे रहे हैं। आज हटा में सरकारी खाद वितरण केंद्र पर कुछ ऐसा ही देखने को मिला जब तीन तीन दिनों से इसी केंद्र पर अपने को खाद मिंलने के इंतज़ार में बैठे किसानों ने फिर हंगामा किया और जब खाद नही मिली तो मंत्री विधायक और सरकार को कोसने के साथ अपनी जीवन लीला खत्म करने की चेतावनी दी है।

पुलिस और हॉकफोर्स के जवानों ने जंगल से किया नक्सली डंप बरामद..

वहीं खाद की कमी को लेकर कांग्रेस भी सरकार पर हमलावर है, किसानों के साथ हर आंदोलन में खड़ी कांग्रेस के नेता शिवराज सरकार को खरी खोटी सुना रहे हैं। इस पूरे मामले पर दमोह के कलेक्टर एस कृष्ण चेतन्य ने बयान देते हुए कहा है कि खाद के वितरण उपलब्धता को लेकर पूरा अमला तैनात है और किसानों से सिर्फ सरकारी वितरण केंद्रों से ही खाद लेने के लिए कहा गया है ऐसे में किसान बाजार से खाद न लें वहीं कालाबाजारी रोकने के लिए भी टीम बनाई गई हैं।

जब ठेले पर विधायक ने बनाई चाट !

आपको बता दें कि दमोह जिले में खाद की किल्लत पर हर दिन प्रदर्शन आंदोलन हो रहे हैं और इलाके की बसपा विधायक रामबाई सिह भी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल चुकी हैं वहीं जिले का इतिहास भी ठीक नही है जब बीते सालों में फसल बर्बादी को लेकर किसान जानलेवा कदम उठा चुके है ऐसे में एक बार फिर परेशान किसानों की चेतावनी चिंता बड़ा सकती है।