अवैध संबंधों ने उजाड़ा परिवार, प्रेमी संग मिल भाभी ने देवर को उतारा मौत के घाट

गणेश अग्रवाल। दमोह।

थाना हिन्डोरिया अंतर्गत फरियादी तारा चंद पिता गजराज पटेल 35 साल निवासी करैया हजारी ने रिपोर्ट किया कि उसका छोटा भाई तरवर पटेल गांव के सामुदायिक भवन के पीछे मृत अवस्था में पड़ा हुआ है। गर्दन में चोट के निशान है। जिससे भाई तरवर को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा धरदार हथियार से गला रेत कर मार डाला है। जिसकी रिपोर्ट पर थाना हिन्डोरिया में अपराध क्रमांक 80 / 2020 धारा 302 ताहिरी का प्रकरण अज्ञात आरोपी के विरूद्ध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस अधीक्षक हेमंत चौहान के द्वारा घटना की गंभीरता को दृष्टिगत रखते हुये अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार लाल के मार्गदर्शन में अनुविभागीय अधिकारी ( पुलिस ) पथरिया व थाना प्रभारी हिण्डोरिया के नेतृत्व में घटना के आरोपी का शीघ्र गिरफ्तार करने हेतु निदेर्शित किया गया।

अज्ञात आरोपियों की पतासाज़ी हेतु पुलिस अधीक्षक दमोह द्वारा 5000 / रूपये का इनाम उद्घोषित किया गया। विवेचना के दौरान प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर संदेहियान (आरोपी ) नीलू उर्फ योगेन्द्र पिता साहव पटेल उम्र 21 साल निवासी ग्राम मुहारी इमलाई थाना दमोह देहात का संबंध मृतक की भाभी सहौद्रा बाई पति ताराचन्द्र पटेल के साथ चलना पाया गया। जिस पर मृतक की भाभी सहौद्रा बाई से कड़ाई से पूछताछ करने पर उसके द्वारा बताया गया कि हमारे संबंधो की जानकारी देवर मृतक तरवर पटेल को हो गई थी। इस बात की जानकारी मृतक तरवर मेरे पति को बताता रहता था. जिस कारण मेरा पति मेरे साथ मार पीट करता था। इस कारण सहौद्रा बाई एवं नीलू उर्फ योगेन्द्र द्वारा योजनाबद्ध तरीके से षडयंत्रपूवर्क हत्या की गई।जिसके आधार पर विवेचना के दौरान उक्त प्ररकण में धारा 120बी ताहि का इजाफा किया गया।

विवेचना पर नीलू उर्फ योगेन्द्र की तलाश की गई जो दस्तयाव हुआ। जिससे बारीकी से पूछताछ करने पर उसके द्वारा उक्त घटना को कारित करना स्वीकार किया गया. पुलिस अधीक्षक द्वारा उक्त सराहनीय कार्य हेतु टीम के अधिकारी / कर्मचारियों को घोषित इनाम की राशि से पुरूष्कृत किये जाने की घोषणा की गई।

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक हेमंत चौहान ने बताया कि घटना की जानकारी लगने के बाद तत्काल ही हिंडोरिया पुलिस की टीम के द्वारा उप पुलिस अधीक्षक विवेक लाल के मार्गदर्शन में गहनता के साथ जांच करते हुए मामले का खुलासा किया गया। जिसमें मृतक की भाभी एवं उसका प्रेमी ही इस पूरी घटना के आरोपी निकले। जिसके लिए पूरी टीम बधाई की पात्र है।इसके साथ ही जो इनाम की राशि घोषित की गई थी, वह इनाम टीम को दिया जाएगा। उक्त टीम में  थाना प्रभारी उनि एसएस राजपूत, उप निरी बीएल चौधरी, प्र .आर . पवन तिवारी, आर . राकेश अठ्या, आर सौरभ टंडन, आर . अजित दुबे आदि शामिल थे।