नाबालिग के साथ दुष्कर्म, आरोपियों ने बनाया वीडियो

वीडियो के आधार पर कर रहे थे ब्लैकमेल

rape

दमोह, गणेश अग्रवाल। हाथरस की वारदात के बाद पूरे देश में आक्रोश है, लेकिन ऐसी घटनाएं थमने का नाम ही नहीं ले रही। अब दमोह में भी नाबालिग के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है।

नरसिहपुर में दुष्कर्म पीड़िता की खुदकुशी के बाद अब दमोह में एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है, जहां एक नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना हुई है। मामला गैसाबाद का है जहां दो लड़कों ने एक नाबालिग के साथ दुष्कृत्य किया और उसका वीडियो बनाकर बीते दस दिनों से उसे ब्लैकमेल कर रहे थे। 22 सितंबर को पीड़िता बाजार जा रही थी तभी रास्ते में गैसाबाद के ही दो लड़के अरुण पटेल और वीरू प्रजापति ने उसे रोका और पकड़कर एकांत में ले गए। दोनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया, इस दौरान लड़कों ने रेप का वीडियो भी बनाया। बाद में वो इसी वीडियो के आधार पर पीड़िता और उसरे परिवार को डरा धमका रहे थे जिस वजह से परिवार पुलिस में नहीं जा रहा था। लेकिन 10 दिन बाद पीड़ित परिवार ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। ये घटना सामने आने के बाद से इलाके में  हड़कंप मचा हुआ है। डरा सहमा परिवार पुलिस की पनाह में आया और नाबालिग ने अपने साथ हुई ख़ौफ़नाक वारदात को बताया जिसके बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों अरुण पटेल और वीरू प्रजापति के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

दमोह के एडिशनल एस पी शिवकुमार सिंह ने बताया है कि नाबालिग के साथ रेप की पुष्टि हुई है और 2 अक्टूबर की रात मामला कायम किया गया है। पुलिस आरोपियों द्वारा वीडियो बनाये जाने की पुष्टि भी कर रही है। पुलिस ने गैंगरेप की धारा के अलावा पास्को एक्ट और आई ट एक्ट की धाराओं में अपराध पंजीबद्ध किया है। वहीं पुलिस एक आरोपी की गिरफ्तारी की बात भी कह रही है, लेकिन जांच का हवाला देकर दोनों में किसकी गिरफ्तारी हुई है ये नहीं बता रही है।